वास्तु के अनुसार व्यक्ति की हर प्रतिक्रिया पर दिशाओं का बहुत प्रभाव पड़ता है। इसके मुताबिक प्रत्येक दिशा का संबंध कई तरह की ऊर्जाओं से होता है। ये ऊर्जाएं इतनी प्रभावशाली होती हैं कि व्यक्ति की सफलता-असफलता पर अपना गहरा प्रभाव डालती हैं। इस कारण ही वास्तु में हर काम करने से पूर्व सही दिशा का चयन करने का इतना महत्व माना जाता है। तो यदि आप भी अपने जीवन में सफलता पाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए इन नियमों को अवश्य अपनाएं।


 


जानिए कौन-से काम करने के लिए किस दिशा को सबसे अच्छा माना जाता है-


दुकान या ऑफिस में काम करते समय वहां के मुखिया का मुंह हमेशा उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। इससे काम में हमेशा सफलता मिलती है।



घर में टीवी ऐसी जगह लगाएं कि टी.वी. देखते हुए घर के सदस्यों का चेहरा दक्षिण या उत्तर-दक्षिण दिशा की ओर हो।



खाना खाते समय मुंह पूर्व और उत्तर दिशा की ओर होना सबसे अच्छा होता है। इससे शरीर को भोजन से मिलने वाली ऊर्जा पूरी तरह से मिल पाती है।



घर में पढ़ाई कर रहे बच्चों का मुख पूर्व दिशा की ओर हो तो यह सबसे अच्छा माना जाता है। इससे बच्चों का मन पूरी तरह से पढ़ाई में लग पाता है।



किसी भी नए काम की शुरुवात उत्तर दिशा की ओर मुंह रखकर ही करनी चाहिए। उत्तर दिशा को सफलता की दिशा माना जाता है।



खाना बनाते समय ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए कि खाना बनाने वाले का मुंह पूर्व या उत्तर-पूर्व दिशा की ओर हो।



सोते समय दक्षिण दिशा की ओर सिर होना चाहिए। इसके अलावा किसी भी अन्य दिशा में सिर करके सोना अशुभ माना जाता है।



घर की उत्तर और दक्षिण दिशा की ओर मेन गेट नहीं बनाना चाहिए, न ही इन दिशाओं में बाॅलकनी होनी चाहिए। अगर ऐसा हो तो उन पर हमेशा पर्दा लगाकर रखना चाहिए।