सेंचुरियन। भारतीय महिला क्रिकेट टीम जब बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथा टी-20 मुकाबला खेलने उतरेगी, तो उनकी नजरें पहली बार यहां पर दो सीरीज जीतने पर होंगी। पांच मैचों की टी-20 सीरीज में भारतीय टीम ने 2-1 से बढ़त बनाई हुई है। पहले दो मैचों में सात और नौ विकेट से जीत दर्ज करने वाली भारतीय महिलाओं को तीसरे टी-20 में पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। इससे पहले भारतीय टीम ने तीन मैचों की वनडे सीरीज में 2-1 से जीत दर्ज की थी।


हरमनप्रीत कौर एंड कंपनी दक्षिण अफ्रीका के एक दौरे पर दो सीरीज जीतना चाहेंगी। इससे पहले भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में भी टी-20 सीरीज जीत चुकी है। आखिरी टी-20 में भारतीय मध्यक्रम लड़खड़ा गया था और भारतीय महिलाएं 17.5 ओवर में 133 रन पर ऑलआउट हो गई थी जबकि हरमनप्रीत ने 30 गेंद में 48 और स्मृति मंधाना ने 37 रन की पारी खेली थी।


पिछले मैच में शून्य पर आउट होने वाली मिताली राज भी इस मैच में रनों के लिए भूखी होंगी। जबकि भारतीय गेंदबाज भी कुछ खास करना चाहेंगी, जो पिछले मुकाबले में साधारण नजर आई थी। झूलन गोस्वामी की अनुपस्थिति में युवा तेज गेंदबाज पूजा वस्त्राकर ने भारतीय गेंदबाजी की अगुआई की थी और चार ओवर में 21 रन देकर 2 विकेट चटकाए थे, लेकिन पूजा को दूसरी साथी गेंदबाजों से कोई मदद नहीं मिल पाई थी। ऑफ स्पिनर अनुजा पाटिल ने चार ओवर में 44 रन लुटा दिए थे और सिर्फ एक विकेट लिया था। ऐसे में बुधवार को हरमनप्रीत चाहेंगी कि उनके गेंदबाज शानदार प्रदर्शन करें और भारत को सीरीज जिताने में अहम भूमिका निभाएं।

पिछले मुकाबले की ही तरह भारतीय महिलाएं पुरुष टीम से पहले सेंचुरियन के मैदान पर अपना मुकाबला खेलेंगी। दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका की टीम भी आत्मविश्र्वास में लौट आई है। तेज गेंदबाज शबनीम इस्माइल ने पिछले मैच में पहली बार पांच विकेट चटकाए थे। वहीं क्लॉय ट्रेयोन भी पिछले मैच में खेली 15 गेंद में 34 रन की पारी को आगे बढ़ाना चाहेंगी।