श्रीनगर: श्रीनगर के करन नगर सीआरपीएफ कैंप में घुसने की कोशिश करने वाले आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन 32 घंटे बाद खत्म हो गया. इस ऑपरेशन में दो आतंकी मार गिराए गए, ये दोनों ही आतंकी लश्कर के बताए जा रहे हैं. दोनों फिदायीन आतंकी सुंजवां आर्मी कैंप पर हमले की तरह ही सीआरपीएफ के मुख्यालय को निशाना बनाना चाहते थे. एनकाउंटर में सीआरपीएफ के जवान मोजाहिद खान शहीद हो गए.



सीआरपीएफ के आईजी रविदीप सहाय ने बताया, ''स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SoG) और सीआरपीएफ ने ज्वाइंट ऑपरेशन चलाया. एनकाउंटर के दौरान दो आतंकी मारे गए. आतंकियों के पास से दो AK-47 और 8 मैग्जीन बरामद हुए हैं.''



सीआरपीएफ कैंप पर हमले की पूरी कहानी

करन नगर में शनिवार को सीआरपीएफ की 23वीं बटालियन के मुख्यालय पर दोनों आतंकी बड़े हमले की फिराक में थे. सुरक्षा में मुस्तैद संतरी ने आतंकियों पर फायरिंग की जिसके बाद दोनों आतंकी सीआरपीएफ मुख्यालय से कुछ दूरी पर ही खाली पड़ी पांच मंजिला इमारत में छुप गए थे.



करीब 32 घंटे से ज्यादा चले ऑपरेशन के बाद सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया. आतंकियों के पास से जो सामान मिले हैं उसके आधार पर दोनों आतंकियों को लश्कर-ए-तैयबा का बताया जा रहा है.