इंदौर। 50 कुर्सियां सुधारने की मजदूरी 90 हजार रुपए देने वाले एमवाय अस्पताल अधीक्षक से मेडिकल कॉलेज स्पष्टीकरण मांगेगा। डीन डॉ.शरद थोरा इस संबंध में उन्हें मंगलवार को पत्र लिखेंगे। जल्दी ही मामले में समिति बनाकर जांच भी कराई जाएगी।एमवायएच अधीक्षक डॉ.वीएस पाल ने बगैर टेंडर बुलाए कोटेशन पर ही 50 कुर्सियों की रिपेयरिंग का काम ठेके पर दे दिया था। ठेकेदार आशाराम शर्मा को काम के एवज में 90 हजार रुपए भुगतान दिया गया। शर्मा ने कैमरे के सामने स्वीकारा था कि वह पहले भी अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में कई बार रिपेयरिंग का काम कर चुका है। ये काम उसे कोटेशन पर ही मिल जाते थे क्योंकि वह डॉ.पाल का परिचित है। वह कई बार डॉ.पाल के यहां मुफ्त में काम कर चुका है। इसके एवज में ही उसे अस्पताल में रिपेयरिंग का काम मिलता है। मेडिकल कॉलेज अब मामले की जांच कराएगा।