मध्य प्रदेश बैतूल के सिवनपाट गांव में रामजानकी मंदिर के पुजारी की संदिग्ध मौत का मामला आया है. पुजारी की आँखे निकली हुई हैं और शव फंदे से लटका मिला है. शव के पास एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसके बारे में पुलिस ने कोई खुलासा नहीं किया है.


दरअसल, आठनेर थानाक्षेत्र के सिवनपाट गांव में रामजानकी मंदिर के पुजारी सीताराम की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. आज सुबह जब दूध बेचने वाला पुजारी के घर पहुंचा तो अंदर का नज़ारा देख उसके होश उड़ गए.


पहली नज़र में मामला हत्या का लग रहा था क्योंकि पुजारी की दोनों आंखें निकाल ली गईं और शव को फंदे से लटका दिया गया था लेकिन शव के पास एक सुसाइड नोट भी मिला है जो शायद पुलिस को गुमराह करने का प्रयास हो सकता है. ग्रामीणों ने इस वारदात के पीछे कुछ लोगों के होने का संदेह भी जताया है.


स्थानीय लोगों को गांव के ही कुछ लोगो पर संदेह है. पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है. लोगों का कहना है कि पुजारी सीताराम पिछले 35 साल से यहां रह रहे थे लेकिन उनके परिवार की जानकारी किसी को नहीं. अब जिन लोगों से पानी के विवाद को लेकर पुजारी की दुश्मनी थी केवल उन्हीं के ज़रिये इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझ सकेगी.