सागर डिवीजन की लोकायुक्त पुलिस ने रविवार को छतरपुर में एक घूसखोर सहकारिता निरीक्षक को रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा है. लोकायुक्त टीम ने चेतगिरि कॉलोनी स्थित निरीक्षक आरएन यादव के घर पर दबिश देकर उसे 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा है.

सेधंपा सहकारी समिति में हुए घोटाले जांच में ढिलाई बरतने के नाम पर यह रिश्वत राशि ली जा रही थी. सागर लोकायुक्त के डीएसपी राजेश खेड़े ने बताया कि जाहर सिंह नाम के एक परिवादी की शिकायत पर सत्यापन को सही पाए जाने पर आरएन यादव के घर दबिश दी गई है, जिसमें केमिकल में रंगे नोटों को लेते वो पकड़ा गया है.

परिवादी जाहर सिंह सेधंपा सहकारी समिति के अध्यक्ष हैं. कुछ दिन पहले सहकारिता निरीक्षक उनकी समिति में जांच के लिए गया था. जहां उसने सहकारी समिति में अनियमितता बताते हुए समिति का रिकॉर्ड जब्त किया था.

इसके बाद सहकारिता निरीक्षक जांच में झूठा फंसाने की धमकी देकर जाहर सिंह से रुपयों की मांग करने लगा. रिश्वत की पहली किश्त के रूप में पहले उसने 1 लाख 15 हजार रुपए  लिए. इसके बाद वह और रुपयों की मांग करने लगा. इससे परेशान होकर जाहर सिंह ने इस संबंध में लोकायुक्त में शिकायत की थी.

इस पूरे मामले में लोकायुक्त पुलिस की ओर से एक अन्य व्यक्ति को भी आरोपी बनाया जाएगा