रायपुर में रविवार को आयोजित होेने वाली मिनी मैराथन से एक रात पहले ही इसकी तैयारियों की पोल खुल गई. राज्य और राज्य के बाहर आए खिलाड़ियों को मैराथन से पहले रात खुले में गुजारनी पड़ी. खिलाड़ियों के रुकने के लिए किसी प्रकार का इंतजाम नहीं किया गया. वहीं खिलाड़ियों का कहना है कि रहने के अलावा उनके खाने-पीने की भी कोई कोई व्यवस्था नहीं की गई.

मिनी मैराथन प्रतियोगिता में 16 कैटेगरी में प्रतियोगिता का आयोजना होगा. दिव्यांग, वृद्ध, युवाओं और अंतराष्ट्रीय स्तर के धावकों के साथ स्कूली छात्र-छात्राएं भी इस दौड़ में हिस्सा ले सकेंगे. वहीं दूसरी तरफ आयोजन शुरु होने से पहले ही अव्यवस्थाएं नजर आ रही हैं. बाहर और राज्य से आए खिलाड़ियों को सुविधाएं नहीं मिलने से वे नाराज और हतोत्साहित हो रहे हैे.

मिनी मैराथन को भारतीय एथलेटिक्स संघ ने तकनीकि रूप से मान्यता दी है. इस मैराथन में 32 लाख का पुरस्कार है ट्रैक 21 और 10 किलोमीटर का है. प्रतियोगिता में खिलाड़ियों की जर्सी पर आरएफ चिप लगे हैं जो खेल में पादर्शिता लाने के लिए लगाई गई हैं. इस प्रतियोगिता में देश की जानी-मानी एथलीट अंजू बॉबी जार्ज और परमजीत सिंह शामिल होंगें.