नई दिल्ली  'इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक' (IPPB) इस साल अप्रैल से देशभर में काम करना शुरू कर देगा। भारतीय डाक विभाग ने एक बयान में बताया कि IPPB का विस्तार कार्यक्रम जारी है और अप्रैल 2018 से पूरे देश में इसका नेटवर्क काम करना शुरू कर देगा। देश के सभी 1.55 लाख डाकघरों से इस बैंक की सेवाओं का उपयोग किया जा सकेगा। 

डाकघर शाखाओं को IPPB की 650 शाखाओं से नेटवर्क समर्थन प्राप्त होगा। बयान में कहा गया है, ‘एक बार प्रस्तावित विस्तार का काम पूरा हो जाए तो उसके बाद IPPB देश वित्तीय समावेशी सुविधाएं उपलब्ध कराने वाला सबसे बड़ा नेटवर्क होगा। डाकियों और ग्रामीण डाक सेवकों की मदद से यह लोगों को उनके घर तक वित्तीय सेवाएं और डिजिटल भुगतान सेवाएं पहुंचाने में सक्षम होगा। यह दूरदराज ग्रामीण और शहरी दोनों आबादी को वित्तीय सेवाएं देगा।' 


भारतीय रिजर्व बैंक ने 2015 में 11 उद्यमों को पेमेंट बैंक खोलने की मंजूरी दी थी। इनमें भारतीय डाक को भी यह सेवा शुरू करने का लाइसेंस दिया गया था। पेमेंट बैंक ग्राहकों, छोटे व्यावसायियों से 1 लाख रुपये तक प्रति खाता जमा स्वीकार कर सकते हैं। छोटे व्यावसायी भी इसमें जमा राशि रख सकते हैं। हालांकि, सामान्य बैंकों की तरह भुगतान बैंक ग्राहकों को कर्ज आदि नहीं दे सकते हैं।