इस बार के गर्मी के सीजन में आइसक्रीम खाना आपको पसीने दिला देगा। कई नामी-गिरामी ब्रांड्स इस बार इनकी कीमतों में बढ़ोतरी करने का मन बना चुकी हैं। ऐसे में आइसक्रीम का स्वाद भी कई लोगों को कड़वा लगने वाला है। 


ये कंपनियां बढ़ाने जा रही हैं दाम

आइसक्रीम के प्रोडक्शन में लगी दो बड़ी कंपनिया-- वाडीलाल और क्रीम बेल ने इसके लिए अपना मन पूरी तरह से बना लिया है। इन कंपनियों का कहना है कि लागत बढ़ने से आइसक्रीम का दाम बढ़ाना उनकी मजबूरी है। आइसक्रीम के अलग- अलग फ्लेवर और पैकेजिंग के मुताबिक कीमतों में 5 से लेकर के 10 फीसदी तक वृद्धि की जाएगी। 


डीजल की बढ़ती कीमतें भी बनी बड़ी वजह

कंपनियों का तर्क है कि हाल के महीनों में डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे हैं, जिसके कारण आइसक्रीम को ट्रांसपोर्ट करने की कॉस्ट भी काफी बढ़ गई है। क्रीमबेल के सीईओ नितिन अरोड़ा ने कहा, 'पिछले छह महीनों में डीजल की कीमतें 23 प्रतिशत, वेतन-मजदूरी 10 प्रतिशत और पैकेजिंग मटीरियल की कीमत 8 से 10 प्रतिशत तक बढ़ी है। इससे आइसक्रीम की कीमतें बढ़नी तय है।' उन्होंने कहा, 'इस वक्त 2018 में कीमत वृद्धि को 5 प्रतिशत तक रोकने की कोशिश हो रही है। यह वृद्धि आनेवाली गर्मियों में की जाएगी।' 


अमूल, मदर डेयरी ने नहीं बढ़ाई कीमतें

एक ओर अमूल का कहना है कि वह अभी कीमत नहीं बढ़ा रहा है तो दूसरी ओर मदर डेयरी ने कहा कि वह मौजूदा स्थिति का आकलन कर रहा है। इधर, क्वालिटी वॉल्स ने मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।