छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बिक रहे पतंजलि के दो प्रोडक्ट के सैंपल खाद्य विभाग की जांच रिपोर्ट में फेल हो गए हैं. पतंजलि हनी और डाइजेस्टिव कुकीज जांच में मिस ब्रांडिंग और मिस लीडिंग मिला है. इसके बाद खाद्य विभाग द्वारा कंपनी को नोटिस भेजा गया है.


रायपुर के सुंदर नगर, पंडरी और सिटी सेंटर मॉल स्थित पतंजलि के मेगा स्टोरों पर जनवरी माह में खाद्य विभाग ने छापा मारा. इस कार्रवाई में प्योर हनी और डाइजेस्टिव कुकीज का सैंपल जब्त किया था. विभाग द्वारा जब्त सैंपल का लैब में जांच कराया गया. जांच में सैंपल अमानक पाए गए.


जांच रिपोर्ट आने के बाद खाद्य विभाग ने मिस ब्रांडिंग और मिस लीडिंग का केस दर्ज किया है.

पतंजलि के प्योर हनी में नमी 12.5 फीसदी मिली जो अधिकतम 25 फीसदी होनी चाहिए, शुगर 79.24 फीसदी मिला जबकि न्यूनतम 65 फीसदी होना चाहिए, सुक्रोज 3.61 फीसदी मिला जबकि अधिकतम 5 फीसदी होना चाहिए, फ्रक्टोज-ग्लूकोज 1.52 फीसदी मिला है जबकि न्यूतम सीमा 0.95 फीसदी सीमा निर्धारित है.


पतंजलि के इस डाइजेस्टिव कुकीज में एश इंसोल्युबल की मात्रा 0.04 फीसदी पाई गई, जो कम होना चाहिए साथ ही एसिडिटी ऑफ एक्सट्रेक्टेड फैट की भी मात्रा जांच में अधिक पाई गई है. खाद्य विभाग रायपुर के सहायक आयुक्त डॉ. अश्वनी देवांगन ने बताया कि रिपोर्ट आने के बाद कंपनी को नोटिस जारी कर दिया गया है.



सहायक आयुक्त डॉ. अश्वनी ने बताया कि कंपनी को नियमानुसार एक माह का वक्त दिया गया है. इस दौरान कंपनी कोलकाता स्थिति सैंट्रल लैब में इस प्रोडक्टस की जांच करा सकती है. वहीं एक माह के बाद खाद्य विभाग द्वारा मामला न्यायालय में पेश किया जाएगा.