गुजरात विधानसभा के चुनाव खत्म हो चुके हैं, लेकिन चुनाव के नतीजों को लेकर गुरुवार को दायर हुई 20 याचिकाओं ने गुजरात की राजनीति में भूचाल ला दिया है.


दरअसल, गुरुवार को गुजरात हाईकोर्ट में अलग-अलग लोगों द्वारा 20 याचिकाएं दायर की गई हैं, जिसमें 5000 से कम अंतर के वोटों से जीती गई सीटों के नतीजों को चुनौती दी गई है. दिलचस्प बात ये है कि इसमें 16 सीटें ऐसी हैं जिसमें जीत का अंतर 3000 वोट से भी कम है.


जिन सीटों पर नजीतों को चुनौती दी गई है उसमें अहमदाबाद की धोलका से चुनाव जीते केबिनेट मंत्री भुपेन्द्र सिंह चुडासमा, कांटे की टक्कर वाली पोरबंदर की सीट जहां बाबु बोखेरीया ने अर्जुन मोढवाडिया को हराया, गोधरा की बीजेपी के सीके राउजी की सीट जिसमें वो महज 250 वोट के अंतर से चुनाव जीते.


इसके अलावा गुजरात की दानी लिमड़ा सीट पर जीत दर्ज करने वाले कांग्रेस विधायक शैलेश की जीत को भी चैलेंज किया गया है. करीब 20 अलग-अलग याचिकाओं के द्वारा विधानसभा चुनाव के नतीजों को चैलेंज किया गया है.


गुजरात हाईकोर्ट में आज इस मामले में अलग-अलग वकीलों के जरिये याचिका दायर की गई, जिसमें पूर्व आईपीएस अधिकारी राहुल शर्मा प्रमुख याचिकाकार्ता हैं. उन्होंने कोर्ट में कांग्रेस और बीजेपी के सभी उन नेताओं की जीत के खिलाफ याचिका दायर की है जिनकी जीत का अंतर 5000 वोट से कम है. गुजरात हाई कोर्ट जल्द ही इस मामले में सुनवाई शुरू करेगी.