नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के दौरे पर जाने वाले हैं. 11 फरवरी को दुबई में होने वाले वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में प्रधानमंत्री हिस्सा लेंगे. दौरे से पहले पीएम मोदी ने गल्फ न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा है कि यूएई दौरे से दोनों देशों के बीच संबंध मजबूत होंगे. यूएई में भारतीय मूल के 30 लाख लोग रहते हैं, जो दोनों देशों के बीच पुल के समान हैं. उन्होंने कहा कि इस दौरे पर ऊर्जा, निवेश और इंफ्रास्ट्रक्चर पर चर्चा होगी.


प्रधानमंत्री इस दौरे पर वाइस प्रेसिडेंट और यूएई के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम और अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और यूएई आर्म्ड फोर्स के डिप्टी सुप्रीम कमांडर शेख मोहम्मद बिन जाएद अल नाह्यान से भी मुलाकात करेंगे.  



पढ़िए PM मोदी के इंटरव्यू के मुख्य अंश


सवालः क्या आपने कभी छुट्टी ली?


पीएम मोदीः बतौर मुख्यमंत्री या अब प्रधानमंत्री के रूप में मैंने कभी छुट्टी नहीं ली. मेरा काम ऐसा है कि मुझे पूरे भारत की यात्रा करने का मौका मिलता है और लोगों की खुशी, दुख और महत्वाकांक्षा को जानने का मौका मिलता है. मेरे लिए यह प्रेरित करने वाला है. 2001 में गुजरात का मुख्यमंत्री बनने से पहले मैंने भारत के हर जिले की यात्रा की. यह मेरे लिए बहुमूल्य अनुभव रहा, इसने मुझे भारत की विविधता से परिचित कराया.


सवालः क्या आपके विदेशी दौरों पर आपके साथ कोई खास खानसामा भी होता है?


पीएम मोदीः नहीं, ऐसा नहीं है. मेरे दौरों पर मेरे साथ कोई विशेष खानसामा नहीं होता है. मैं खुशी-खुशी कुछ भी खा लेता हूं, जो कुछ भी मेरे मेजबान तैयार करते हैं.


सवालः आप दिन में कितने घंटे सोते हैं?


पीएम मोदीः मैं चार से छह घंटे सोता हूं, यह काम के बोझ के अनुसार घटता बढ़ता रहता है. लेकिन हर रात मैं पूरी नींद लेता हूं. वास्तव में मैं बिस्तर पर जाने के साथ ही सो जाता हूं. मैं अपने साथ कोई तनाव नहीं रखता और हर सुबह ताजा दम होकर उठता हूं और नए दिन का स्वागत करता हूं.


सवालः हर सुबह आप पहली चीज और सोने से पहले आखिर चीज क्या करते हैं?



पीएम मोदीः मेरे दिन की शुरुआत योग से होती है. मैं मानता हूं कि ये शरीर और मस्तिष्क के लिए काफी फायदेमंद है. हर सुबह मैं पहले न्यूजपेपर पढ़ता हूं, ई-मेल चेक करता हूं और फिर लोगों को कुछ जरूरी फोन करता हूं. इसके साथ नरेंद्र मोदी ऐप पर लोगों के आए सुझाव और फीडबैक को भी देखता हूं.


सोने से पहले मैं दिन में मिले दस्तावेजों को देखता हूं. अगले दिन की मीटिंग और कार्यक्रमों की तैयारी करता हूं.


सवालः आपका फेवरेट डिश क्या है? आप ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर में क्या लेते हैं?


पीएम मोदीः मैं खाने का बहुत ज्यादा शौकीन नहीं हूं. मैं हर रोज साधारण शाकाहारी खाना पसंद करता हूं.


सवालः सप्ताह में आपका पसंदीदा दिन कौन सा है और क्यों?


पीएम मोदीः 'टुडे' यानी आज मेरा पसंदीदा दिन है. मैं आज में जीने वाला हूं. सिर्फ आज का दिन हमारे हाथ में होता है. ताकि हम कड़ी मेहनत करें और अपनी आकांक्षाओं को पूरा करें.


सवालः वो कौन से व्यक्ति हैं, जिनसे आपको सबसे ज्यादा प्रेरणा मिलती है?


पीएम मोदीः कई सारे लोगों से मुझे प्रेरणा मिलती है और निश्चित रूप से मैं आपको इनमें से कुछ लोगों के बारे में बताऊंगा.


बचपन से ही मुझे स्वामी विवेकानंद से मुझे प्रेरणा मिलती रही. इसके साथ महात्मा गांधी ने भी मुझे प्रेरित किया है. गरीबों के प्रति उनका लगाव हो या शांति और अहिंसा के साथ स्वतंत्रता आंदोलन में हर एक व्यक्ति को जोड़ लेना. निश्चित रूप से ये चीजें आपको प्रेरित करती है.


इनके अलावा सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर से भी मुझे काफी प्रेरणा मिलती है.


सवालः निजी संवाद में आप टेक्नोलॉजी का कितना इस्तेमाल करते हैं?


पीएम मोदीः मेरा टेक्नोलॉजी में गहरा विश्वास है, यह लोगों को ताकत देता है. टेक्नोलॉजी लोगों को जोड़ने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है और यह उनकी महत्वाकांक्षाओं को दर्शाता है. निजी तौर पर मैं सोशल मीडिया पर सक्रिय हूं. इनमें फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम, यूट्यूब जैसे माध्यमों पर मेरी सक्रियता है.