प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद में देश के पहले प्रधानमंत्री को चुने जाने को लेकर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कांग्रेस पार्टी की आलोचना करते हुए कहा है कि वह लोकतंत्र का पाठ पढ़ाने लायक नहीं है. लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान पीएम ने कहा कि जब 12 कांग्रेस कमेटियों ने सरदार वल्लभ भाई पटेल को पहले प्रधानमंत्री के लिए चुना था और 3 कांग्रेस कमेटियों ने नोटा किया था, तब कैसे जवाहर लाल नेहरू को पहला प्रधानमंत्री बना दिया गया. आइए जानते हैं कैसे पीएम ने 10 बार से अधिक कांग्रेस पार्टी पर वार किया...

मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया है कि केंद्र में सत्ताधारी पार्टी के तौर पर 90 बार राज्य सरकारों को उखाड़ फेंका गया और लोकतंत्र को पनपने नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 90 बार धारा 356 का दुरुपयोग किया है. पंजाब, तमिलनाडु, केरल में राज्यों सरकारों को बर्खास्त कर दिया गया.

मोदी ने कांग्रेस पार्टी पर देश को गुमराह करने का आरोप लगाया और कहा कि आज भी कांग्रेस पार्टी की गलती की सजा देश भुगत रहा है. मोदी ने कहा कि आपके मुंह में लोकतंत्र शोभा नहीं देता. कृपा करके आप लोकतंत्र के पाठ मत पढ़ाइए.

मोदी ने कहा कि अगर कांग्रेस कमेटियों की वोटिंग के आधार पर प्रधानमंत्री बनाया जाता तो सरदार वल्लभ भाई पटेल पहले पीएम होते. मोदी ने कहा कि अगर ऐसा होता तो आज कश्मीर का एक हिस्सा पाकिस्तान के पास नहीं होता.

मोदी ने हाल में राहुल गांधी के अध्यक्ष चुने जाने पर भी सवाल उठाए और कहा कि वो चुनाव था या ताजपोशी थी. मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी का एक नौजवान अध्यक्ष बनने के लिए पर्चा भरना चाहता था, लेकिन उसे ऐसा नहीं करने दिया गया. मोदी का इशारा शहजाद पूनावाला की ओर था.

पीएम मोदी बोले कि जब आपने (कांग्रेस) भारत का विभाजन किया और देश के टुकड़े किए और जो जहर बोया उसके कारण ये हंगामा हो रहा है. मोदी ने कहा कि आपके जहर की कीमत देश आज भी चुका रहा है, आंध्र के साथ जो हुआ वो सही नहीं हुआ था. कांग्रेस ने चुनाव के लिए जो हड़बड़ी में किया, उसके कारण ही 4 साल के बाद भी ये समस्या बनी हुई है.

पीएम मोदी ने कहा कि कर्नाटक के चुनाव के बाद क्या पता खड़गे जी वहां होंगे या नहीं, ये शायद उनकी फेयरवेल स्पीच भी हो सकती है. जब फेयरवेल स्पीच होती है तो सम्मान से देखी जाती है.

PM मोदी ने कहा कि हमारी आजादी के बाद कई देश आजाद हुए और हम से आगे बढ़ गए. हम नहीं बढ़ पाए ये मानना होगा, आपने मां भारती के टुकड़े कर दिए. इसके बावजूद भी ये देश आपके साथ रहा था, आप उस जमाने में देश पर राज कर रहे थे जब विपक्ष सिर्फ नाममात्र का था. मीडिया भी उस दौरान काफी कम था.

मोदी ने कहा कि उस दौरान न्यायपालिका में नियुक्ति भी कांग्रेस पार्टी करती थी, आप जिन विचारों से पले-बढ़े हो उस दौरान वैसा ही माहौल देश में था. पंचायत से पार्लियामेंट तक आपका ही राज था, लेकिन आपने पूरा समय एक परिवार के गीत गाने में खपा दिया. देश के इतिहास को भुलाकर एक ही परिवार को याद किया.

पीएम बोले कि जब कहा गया कि देश को नेहरु और कांग्रेस ने लोकतंत्र दिया तो मैं आश्चर्य में पड़ता हूं. उन्होंने कहा कि हमारे देश में जब बुद्ध परंपरा थी तब भी देश में लोकतंत्र था, सिर्फ कांग्रेस और नेहरू जी ने लोकतंत्र नहीं दिया.