झाबुआ : देश का संभवत: यह पानी तरह का पहला ऐसा मोहल्ला (आदिवासी क्षेत्र में फलिया कहा जाता है) है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से रोशन हो रहा है. मोदी का जादू देश में सर चढ़ कर बोल रहा है, इसका ताजा सबूत झाबुआ के कालाखूंट पंचायत में मिला. जिला मुख्यालय से लगभग 20 किमी दूर स्थित झाबुआ जनपद की पंचायत कालाखूंट में 2016-17 में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 285 आवास स्वीकृत हुए थे.


इनमें से 120 आवास अब तक बन चुके हैं.  अब ये पंचायत मोदी फलिया के नाम से जाना जायेगा. कारण यह है कि इस फलिए में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 36 मकान एक साथ बनाये गए है, बस इसी बात से खुश होकर ग्रामीणों ने गांधी जयंती पर ग्रामसभा में 'भगत फलिए का नाम बदलकर 'मोदी फलिया रखने का सर्व सम्मति से फैसला किया. ग्रामीण संसद के इस प्रस्ताव के बाद पिछले सप्ताह बोर्ड भी लगा दिया है.


देश और विदेश में भारत का डंका बज रहा है. ऐसे में मोदी के जादू से कोई भी छूटा नहीं है. फ़िलहाल ये एक मोहल्ला मोदीमय हुआ है और आगे ये अब मोदी फलिया के नाम से ही जाना जायेगा. जो मोदी के वर्चस्व का एक और नमूना है.