बिलासपुर । बिलासपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने पात्रता प्रमाण पत्र को लेकर छात्राओं का मोबाइल नंबर वेबसाइट पर सार्वजनिक कर दिया है। जिससे उनकी मुश्किलें बढ़ गई हैं। उन्हें रात-दिन फोन आ रहे हैं। छाात्राओं का कहना है कि अधिकारियों को ऐसा नहीं करना था। अभिभावक को नोटिस भेजते या खुद संपर्क करते।


बता दें कि कुलसचिव के हस्ताक्षर से कुल 114 छात्र-छात्राओं के नाम नोटिस जारी हुआ है। इस नोटिस को रजिस्टर्ड डाक से अभिभावकों के पास भेजने के अलावा वेबसाइट पर भी 27 जनवरी को सार्वजनिक कर दिया गया है।


इसमें अधिकांश बीएड व एमएड की प्रशिक्षार्थी हैं। देश के अलग अलग हिस्सों से पढ़ाई करने आई छात्राओं का मोबाइल नंबर सभी जगह फैल चुका है। शरारती तत्व परेशान कर रहे हैं। कोई विश्वविद्यालय के नाम पर जानकारी ले रहा है तो कोई छात्र संगठनों का हवाला देकर राहत देने की बात कह रहा है।


रात में अश्लील और गंदी बातें कर परेशान भी किया जा रहा है। इसे लेकर अभिभावकों में जमकर आक्रोश है। नोटिस को लेकर कलेक्टर के माध्यम से कुलाधिपति से शिकायत की बात कह रहे हैं।


- प्रवेश के दौरान पात्रता प्रमाण पत्र जमा नहीं करने वाले छात्र-छात्राओं के नोटिस को वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। छात्राओं के नंबर सार्वजनिक होने की जानकारी नहीं है। यह एक गंभीर बात है। इस पर चर्चा करेंगे। - डॉ.एचएस होता, अधिष्ठता, छात्र कल्याण, बिलासपुर विश्वविद्यालय