जबलपुर। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर 10 फरवरी को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत में प्रदेश भर के 2 लाख 86 हजार मामलों पर सुनवाई होगी। यह जानकारी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव बृजेन्द्र सिंह भदौरिया ने पत्रकारवार्ता में दी।


हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के मुख्य संरक्षक तथा प्रशासनिक जस्टिस एसके सेठ मार्गदर्शन में पूरे प्रदेश में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जाना है। ये लोग अदालत उच्च न्यायालय स्तर से जिला न्यायालय, तहसील न्यायालय, श्रम न्यायालय, कुटुम्ब न्यायालय में आयोजित की जाएंगी। इनमें आपराधिक शमनीय, बैंक रिकवरी, मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण, श्रम विवाद, विद्युत, जलकर बिल, वैवाहिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण सहित अन्य मामलों की सुनवाई होगी। प्राधिकरण के सदस्य सचिव ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि वे पक्षकार जिनका प्रकरण किसी भी न्यायालय में लंबित है वे 10 फरवरी को लोक अदालत के माध्यम से उसका निराकरण कराना चाहते हैं तो संबंधित न्यायालय के समक्ष समझौता से निराकरण के लिए अपनी सहमति दें। उन्होंने बताया कि प्रिलिटिगेशन अर्थात मुकदमा पूर्व स्तर पर एक लाख 25 हजार 291 प्रकरण तथा न्यायालयों में लंबित प्रकरण जो भेजे गए हैं एक लाख 61 हजार 141 में राजीनामा कराने प्रस्तुत किया जा चुका है।