किसी भी अच्छे काम की शुरुआत भले ही चंद हाथों से हो लेकिन धीरे-धीरे उसका कारवां बढ़ता जाता है। एसिड अटैक सर्वाइवर्स की मदद का कारवां भी ऐसे ही बढ़ता गया। अब इस कारवां में फेमस रोमानियन मॉडल, एंकर और सिंगर यूलिया वंतूर का नाम भी शामिल हो गया है। यूलिया रविवार को गोमती नगर स्थित शीरोज हैंगआउट कैफे पहुंचीं। यहां पहुंचकर उन्होंने एसिड अटैक सर्वाइवर्स से मुलाकात की और कठिन समय में जिंदगी से हार न मानने के लिए उनकी सराहना की। साथ ही अपनी ओर से एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने वाली छांव फाउंडेशन को आर्थिक सहायता भी दी। इस मौके पर यूलिया के साथ उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी और कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत भी मौजूद रहे। किसी भी अच्छे काम की शुरुआत भले ही चंद हाथों से हो लेकिन धीरे-धीरे उसका कारवां बढ़ता जाता है। एसिड अटैक सर्वाइवर्स की मदद का कारवां भी ऐसे ही बढ़ता गया। अब इस कारवां में फेमस रोमानियन मॉडल, एंकर और सिंगर यूलिया वंतूर का नाम भी शामिल हो गया है। यूलिया रविवार को गोमती नगर स्थित शीरोज हैंगआउट कैफे पहुंचीं। यहां पहुंचकर उन्होंने एसिड अटैक सर्वाइवर्स से मुलाकात की और कठिन समय में जिंदगी से हार न मानने के लिए उनकी सराहना की। साथ ही अपनी ओर से एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने वाली छांव फाउंडेशन को आर्थिक सहायता भी दी। इस मौके पर यूलिया के साथ उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी और कांग्रेस प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत भी मौजूद रहे। 


सिर्फ आर्थिक मदद जरूरी नहीं


यूलिया ने कहा, 'मैं पहली बार लखनऊ आई हूं लेकिन मैंने इन एसिड अटैक सर्वाइवर्स के बारे में सुना था। इनके साथ हुई घटना सुनकर मुझे जितना दुख हुआ था, उतनी ही खुशी इस बात से हुई कि इन्होंने जिंदगी से हार नहीं मानी। इन्हें सपॉर्ट करने वाली टीम भी काफी अच्छा काम कर रही है। समाज में कम ही लोग ऐसे होते हैं, जो ऐसे पीड़ितों के लिए आगे आते हैं और इतना वक्त इन्हें देते हैं। मुझे इंडिया ने बहुत कुछ दिया है। अब मैं भी अपनी तरफ से इसके लिए कुछ करना चाहती हूं। इसके लिए मैं यहां आई हूं। जरा सोचकर देखिए कि अगर एक रोज आप उठें और समाज आपको अपनाने से इनकार कर दे। एसिड अटैक सर्वाइवर्स उसी दर्द से गुजरी हैं। कई लोग तो समाज के बुरे बर्ताव की वजह से अपनी जिंदगी भी खत्म कर देते हैं इसलिए जरूरी नहीं कि हम आर्थिक रूप से ही इनकी मदद करें। हम मानसिक तौर पर भी इनकी मदद कर सकते हैं। 


कर्म में विश्वास रखती हूं 

न जाने इस समाज और उन इंसानों को क्या हो गया है, जिन्होंने इन लड़कियों के साथ ऐसा बर्ताव किया। मेरा मानना है कि भगवान कहीं न कहीं हैं और सब देख रहे हैं। मैं कर्म में भी विश्वास करती हूं। हम जैसा कर्म करते हैं, उसका फल हमें जरूर मिलता है। जिन्होंने ये बुरे काम किए हैं, उन्हें भी इसका फल मिलेगा। यूलिया ने सर्वाइवर्स को प्रेरणा देते हुए कहा कि दरअसल जिंदगी में जो हमारे साथ होता है वो सिर्फ दस फीसदी है और बाकी 90 फीसदी जिंदगी वह है, जो हम खुद बनाते हैं। यूलिया से मिलकर एसिड अटैक सर्वाइवर्स काफी खुश हुईं, साथ ही उन्होंने यूलिया को उनके करीबी दोस्त और बॉलिवुड स्टार सलमान खान के साथ लखनऊ आने का न्योता भी दिया। गौरतलब है कि हाल ही में यूलिया का म्यूजिक विडियो 'हरजाई' रिलीज हुआ है। इसमें उनके साथ ऐक्टर और टीवी होस्ट मनीष पॉल भी नजर आ रहे हैं। इसे काफी अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है।