जबलपुर। जबलपुर के दोनों मॉल में फिल्म पद्मावत न लगने के कारण करणी सेना, क्षत्रिय महासभा या किसी भी सामाजिक संगठन की तरफ से कोई भी प्रदर्शन या हंगामा नहीं हुआ। हालांकि पुलिस-प्रशासन सुबह से रात तक अलर्ट रहा। देर शाम पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने क्षत्रिय महासभा के प्रदेश महामंत्री ठाकुर शैलेन्द्र सिंह की अगुवाई में महासभा के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में कानून-व्यवस्था के मुद्दों को लेकर चर्चा हुई। क्षत्रिय महासभा के प्रदेश महामंत्री शैलेन्द्र सिंह के अनुसार मॉल संचालकों ने क्षत्रिय समाज की भावनाओं का ध्यान रखते हुए फिल्म के प्रदर्शन पर स्वयं रोक लगा दी। समाज की तरफ से मॉल संचालकों को बधाई दी। इसी तरह पुलिस प्रशासन के निर्णय और बातचीत का स्वागत करते हुए भविष्य में कानून-व्यवस्था में सहयोग करने का वादा किया।


हिन्दू सेवा परिषद् ने दी चेतावनी


दूसरी तरफ हिन्दू सेवा परिषद् ने फिल्म पद्मावत के प्रदर्शन को लेकर सिनेमाघर और मॉल संचालकों को चेतावनी दी है कि भविष्य में फिल्म का प्रदर्शन किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इस मौके पर परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष अतुल जेसवानी, निखिल कनौजिया, बबलू पटवा, धीरज ज्ञानचंदानी और अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।