फिल्म का नाम: पद्मावत


डायरेक्टर: संजय लीला भंसाली


स्टार कास्ट: दीपिका पादुकोण, रणवीर सिंह, शाहिद कपूर, अदिति राव हैदरी, रजा मुराद, जिम सर्भ


अवधि: 2 घंटा 43 मिनट


सर्टिफिकेट: U/A


रेटिंग: 4 स्टार


संजय लीला भंसाली का जिक्र जब भी होता है तो हम दिल दे चुके सनम, देवदास, गोलियों की रासलीला रामलीला और बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में आंखों के सामने आ जाती हैं. नवंबर 2016 में फिल्म पद्मावती (अब पद्मावत) की शूटिंग शुरू हुई थी, तबसे लेकर अभी तक यह फिल्म इतिहास को लेकर विवादों में है. लगातार हो रहे विरोध के बावजूद फिल्म 25 जनवरी को रिलीज हो रही है.


फिल्म की कहानी को लेकर हो रहे विरोध का पता फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा और इस फिल्म की कहानी जानिए हमारे साथ...


कहानी


फिल्म की कहानी तेरहवीं शताब्दी से शुरू होती है जब खि‍लजी वंश का शासक जलालुद्दीन खिलजी (रजा मुराद) अफगानिस्तान में अपनी टुकड़ी के साथ बैठा हुआ दिल्ली को जीतने का प्लान बनाता रहता है. उसी समय उसका भतीजा अलाउद्दीन खि‍लजी (रणवीर सिंह) आता है और चाचा की बेटी मेहरूनिसा (अदिति राव हैदरी) के साथ निकाह कर लेता है. कुछ घटनाओं के बाद अपने चाचा को मारकर अलाउद्दीन दिल्ली का राजा बन जाता है. वहीं दूसरी तरफ मेवाड़ के राजा महारावल रतन सिंह (शाहिद कपूर) जब सिंघल देश जाते हैं तो वहां उनकी मुलाकात राजकुमारी पद्मिनी (दीपिका पादुकोण) से होती है.


प्रेम में पड़ने के बाद महारावल पद्मिनी से शादी करके उन्हें चित्तौड़ लेकर आते हैं. इसी बीच कुछ कारणों से राज्य के पुरोहित राघव चेतन को देश निकाला कर दिया जाता है और वो गुस्से में दिल्ली जाकर अलाउद्दीन खिलजी को रानी पद्मावती के रूप का बखान करता है. पुरोहित की बातों से प्रभावित होकर अलाउद्दीन, चित्तौड़ पर आक्रमण करने के लिए निकलता है. चित्तौड़ जाकर वो महारावल के साथ छल करके उन्हें बंदी बनाकर दिल्ली ले आता है और महाराजा को छोड़ने के एवज में एक बार महारानी पद्मावती को देखने की बात कहता है. इसके बाद कहानी में कई मोड़ आते हैं और अंतत: जीत राजपूतों के शौर्य और पराक्रम की होती है.

क्यों देखने जाएं फिल्म पद्मावत


- फिल्म संजय लीला भंसाली की फिल्म में विजुअल ट्रीट ही उनकी की फिल्ममेकिंग की स्टाइल है. चाहे युद्ध के सीक्वेंस हो, महाराजा और रानी के बीच के सीन हो या फिर जौहर का दृश्य हो, हरेक फ्रेम में आपको संजय लीला भंसाली का स्पेशल टच देखने को मिलता है.


- फिल्म का आर्ट वर्क कमाल का है और जो भी दृश्य आपकी आंखों के सामने आते हैं वो आंखों को सुखद अनुभव देते हैं .


- फिल्म की पटकथा को काल्पनिक बताया गया है और कहानी का अंत तो सभी को पहले से पता है. लेकिन कहानी को संजय लीला भंसाली ने काफी दिलचस्प तरीके से पेश किया है.


- फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी और महारानी पद्मिनी के बीच कोई भी ड्रीम सीक्वेंस या किसी भी तरह का दृश्य नहीं है. फिल्म में राजपूत समाज और उसके पराक्रम को ही स्क्रीन पर दिखाने का प्रयास किया गया है, वहीं उस समय की महिलाओं के आत्मसम्मान की दास्तां को भी बयान किया गया है.


- फिल्म में किरदारों की अगर बात करें तो दीपिका पादुकोण का अभिनय जबदस्त है. रानी पद्मिनी के किरदार में दीपिका का काम सराहनीय है. वहीँ शाहिद कपूर ने महाराजा रावल रतन सिंह के किरदार में एक जिम्मेदार पति और राजा का किरदार बखूबी निभाया है. अलाउद्दीन खिलजी जैसे क्रूर व्यक्तित्व के इंसान को पर्दे पर निभा पाने में रणवीर सिंह ने कोई कसर नहीं छोड़ी है. बहुत ही अद्भुत और लाजवाब अंदाज में रणवीर ने अपने किरदार के ऊपर काम किया है और वो फिल्म में नजर भी आता है. इसके अलावा रजा मुराद, अदिति राव हैदरी, जिम सर्भ, आयाम और बाकी सभी किरदारों ने सहज अभिनय किया है.


- फिल्म का म्यूजिक ठीक है. घूमर, एक दिल एक जान और बाकी गीत फिल्म के स्क्रीनप्ले में सहायता करते हैं. बैकग्राउंड स्कोर और युद्ध के दौरान के साउंड फिल्म को और भी रिच बनाते हैं.


कमजोर कड़ियां


पहली बार संजय लीला भंसाली की फिल्म 3डी में दर्शाने की कोशिश की गई है, जिसकी क्वालिटी और बेहतर की जा सकती थी साथ ही फिल्म काफी लंबी है. खास तौर पर इंटरवल से पहले का हिस्सा अच्छे से एडिट किया जाता तो काफी क्रिस्प हो सकती थी.

बॉक्स ऑफिस


फिल्म का बजट लगभग 180 करोड़ बताया जा रहा है और ये भी कहा जा रहा है की रिलीज डेट बार-बार बदलने के कारण इसकी कॉस्ट हर दिन बढ़ती जा रही थी. 24 तारीख को पूरे देश में पेड प्रिव्यू के शोज भी रखे गए हैं जिसकी वजह से अच्छा कलेक्शन हो सकता है. फिल्म को भारत में हिंदी तमिल तेलूगू मिलाकर लगभग 7000 स्क्रीन्स में रिलीज किये जाने की बात कही जा रही है और हिंदी के साथ-साथ तमिल और तेलुगु में भी डब किया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने भी इस फिल्म को हर जगह रिलीज करने का फरमान जारी किया है. देखना दिलचस्प होगा की कितना बड़ा वीकेंड ये होने वाला है.