बिलासपुर। प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन में बिलासपुर संभाग में मुंगेली जिला टॉप पर तो बिलासपुर जिला फिसड्डी साबित हो गया है। केंद्र सरकार के सर्वे रिपोर्ट में मुंगेली जिले का रैंक सातवां है तो बिलासपुर जिला 14 वें पायदान पर अटक गया है।


प्रधानमंत्री आवास योजना के क्रियान्वयन को लेकर केंद्र सरकार ने देशभर के राज्यों को एक निश्चित लक्ष्य निर्धारित किया है। वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के पहले आवासहीन गरीबों को आशियाना उपलब्ध कराने की योजना बनाई गई है।


केंद्र के निर्देशों को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने एक साल पहले वर्ष 2018 में ही लक्ष्य पूरा करने का एलान किया था। सीएम की घोषणा के मद्देनजर राज्य शासन ने प्रदेशभर के कलेक्टरों को पत्र लिखकर जिले में आवासहीन हितग्राहियों की सूची मंगाई थी। इसी आधार पर लक्ष्य पूरा करने कहा गया था।


दिसंबर 2017 में केंद्र सरकार ने देशभर में सर्वेक्षण कराया था। सर्वे के बाद प्रदेशवार रिपोर्ट जारी की गई है। छत्तीसगढ़ के सभी 27 जिलों में पीएम आवास के क्रियान्वयन को लेकर जिलेवार रैंकिंग की गई है। रैकिंग के साथ ही परफारमेंस को लेकर नंबर भी जारी किए गए हैं।


रिपोर्ट में बिलासपुर संभाग के अंतर्गत आने वाले जिले बिलासपुर,मुंगेली,जांजगीर-चांपा,कोरबा व रायगढ़ में आवास योजना के तहत किए गए काम के आधार पर रैंकिंग जारी की गई है। पीएम आवास के क्रियान्वयन में मुंगेली जिला संभाग में टॉप पर है।


रायगढ़ 12 वें नंबर पर तो बिलासपुर 14 वें नंबर पर है। कोरबा की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। केंद्रीय आवास एवं पर्यावरण मंत्रालय ने कोरबा को 22 वें नंबर पर रखा है।


कहीं शौचालय जैसा आंकड़ा तो नहीं


शौचालय निर्माण में पूरे प्रदेश में मुंगेली जिले को ओडीएफ करवाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों जिले की तत्तकालीन कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ ने प्रदेशभर में वाहवाही लूटी थी। नईदुनिया ने जब ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की तो फर्जीवाड़ा भी सामने आया। ऐसे गांव भी मिले जहां शौचालय का निर्माण पूरा नहीं किया गया था।


जिले का नाम प्रदर्शन (प्रतिशत में) कुल रैंक


- मुंगेली 79.9 7


- रायगढ़ 76.84 12


- बिलासपुर 76.46 14


- जांजगीर-चांपा 75.92 15


- कोरबा 70.67 22


जिले में पीएम आवास की स्थिति


- वर्ष 2016-17 का लक्ष्य-34 हजार 605


- वर्ष 2017-18 का लक्ष्य- 23 हजार 500


- इस वर्ष पूरा किए गए आवास की संख्या- 15 हजार 201


- जिले में कुल आवास बनाना है - एक लाख 57 हजार


- पीएम आवास योजना के क्रियान्वयन को लेकर लगातार काम किया जा रहा है। वर्ष के अंत तक तक लक्ष्य की पूर्ति कर ली जाएगी। - आनंद पांडेय, प्रभारी ,पीएम आवास योजना