सुरक्षाबलों का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल के एक बड़े होटल को 12 घंटे बाद बंदूकधारियों के क़ब्ज़े से छुड़ा लिया गया है.


अफ़ग़ानिस्तान के गृह मंत्री ने कहा है कि काबुल स्थित इंटरकॉन्टिनेंटल होटल में इस दौरान एक विदेशी महिला समेत छह नागरिक और तीन हमलावर मारे गए हैं.


इस होटल से अफ़ग़ानिस्तान के सैनिकों ने 160 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला. होटल को अपने नियंत्रण में लेने के लिए अफ़ग़ानिस्तान के सुरक्षा बलों को रात भर मशक्कत करनी पड़ी.


हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है कि सुरक्षाबलों द्वारा होटल को अपने नियंत्रण में लेने की घोषणा के बाद भी गोलीबारी की आवाज़ आ रही थी.


अफ़ग़ानिस्तान की समाचार एजेंसी टोलो का कहना है कि मरने वालों की संख्या और बढ़ सकती है. टोलो ने अपने रिपोर्टर के हवाले से लिखा है कि होटल के भीतर दर्जनों शव पड़े हुए हैं.


अफ़ग़ानिस्तान एयरलाइन कम एयर ने स्थानीय पत्रकार बिलाल सार्वरी से कहा कि उस होटल में उसके 42 सदस्य थे. इसमें से कुछ विदेशी भी थे. इनमें से 18 अब भी ग़ायब हैं और पांच लोगों के मरने की आशंका है.


तालिबान ने इस होटल को 2011 में भी निशाना बनाया था. इस हमले के पीछे भी उसी का हाथ बताया जा रहा है. शनिवार को स्थानीय समय रात नौ बजे होटल के छठे तले से बंदूकधारियों ने गोलीबारी शुरू कर दी थी. उस वक़्त होटल में लोग डिनर कर रहे थे.