इन दिनों शादियां टूटने की आम वजह हो गई है सेक्स की कमी यानी अगर कोई एक पार्टनर दूसरे को सेक्शुअली संतुष्ट नहीं कर पाता तो शादियां टूट जाती हैं लेकिन आपको यकीन नहीं होगा कि अगर लाइफ में सेक्स की अति हो जाए तो यह भी किसी रिश्ते की टूटने की वजह बन सकता है। इस महिला की अरेंज मैरिज हुई थी और उसने बताया कि किस तरह जरूरत से ज्यादा सेक्स ने उसके जीवन को बर्बाद कर दिया। आप भी पढें...

चूंकि मेरी अरेंज्ड मैरिज हुई थी इसलिए मेरे पास शादी से पहले पति को जानने का ज्यादा समय नहीं था क्योंकि हमारा कोर्टशिप पीरियड मुश्किल से 2 महीने का था। लिहाजा इतने कम वक्त में किसी के बारे में सबकुछ जान लेना संभव नहीं था। जब मेरी शादी हुई तो मैं नहीं जानती थी कि मैं किसके साथ वचनबद्ध होने जा रही हूं।

हमारी शादी की फर्स्ट नाइट यानी सुहागरात पर जो हुआ वह किसी परियों की कहानी जैसा था। मुझे पता था कि शादी की पहली रात अधिकतर लोग सेक्स करते हैं और मैं भी इसकी उम्मीद कर रही थी। मेरे पति ने प्यार से मेरा हाथ पकड़ा, मेरे कानों में प्यारी-प्यारी बातें कहीं। उन्होंने मुझे बताया कि वह मुझसे कितना प्यार करते हैं और उनका इतना प्यार और केयर देखकर मैं भी किसी छोटे बच्चे की तरह उनका हाथ पकड़कर उनके बगल में सो गई।

शादी का तीसरा महीना खत्म होते ही मैंने इस बात को महसूस कर लिया था कि मेरे पति बेहद कामुक और जोशीले व्यक्ति हैं। हर रात मेरे साथ सेक्स करने के बाद भी वह इतने एक्साइटेड रहते थे कि दोबारा करने के मूड में होते थे। कभी-कभी मुझे ऐसा लगता था कि वह मुझसे कुछ छिपा रहे हैं। एक रात सेक्स के दौरान ही उन्होंने बड़े कामुक अंदाज में मेरे कानों में कहा कि वह बॉन्डेज ट्राई करना चाहते हैं। मैंने पहले भी BDSM के बारे में सुन रखा था लेकिन मुझे यकीन नहीं हुआ कि लोग सचमुच इन चीजों को करते हैं। पहले तो मैं थोड़ी शॉक्ड रह गई लेकिन फिर मुझे लगा कि एक्सपेरिमेंट करने में हर्ज ही क्या है?

जब मेरे पति को इस बात का अहसास हो गया कि मैं उनकी डिमांड्स को पूरा करने लगी हूं तो उनकी कामुकता और वासना और बढ़ने लगी। पहले जहां हम रात में एक बार सेक्स किया करते थे वहीं अब हम एक दिन में 3-3 बार सेक्स करने लगे। सुबह होते ही इससे पहले कि मैं अपनी आंखें भी सही ढंग से खोल पाउं, पति की डिमांडिग बॉडी मेरे ऊपर होती थी। शुरुआत में तो मैं शाम का इंतजार करती थी क्योंकि शाम, हमारी लाइफ का सबसे पैशनेट वक्त होता था। लेकिन सेक्स के बिना कभी हमारी रात खत्म ही नहीं होती थी। मैं धीरे-धीरे थकने लगी और मेरी आंखों से नींद गायब होने लगी।

शादी के 1 साल बाद मुझे समझ में आ गया था कि मैं अपने पति के इस बढ़े हुए सेक्स ड्राइव को मैच नहीं कर सकती हूं औऱ मैं डिप्रेशन में चली गई। मुझे लगा मेरे अंदर ही कोई कमी और मैंने अपने डर के बारे में अपने पति को बता दिया। मैंने पति से कहा कि मुझे उनके साथ सेक्स करना अच्छा लगता है लेकिन एक दिन में इतनी बार सेक्स करने की वजह से मैं इसे इन्जॉय नहीं कर पा रही हूं। शुरुआत में तो उन्होंने कहा कि वह मेरी बातों को समझ रहे हैं लेकिन फिर उन्होंने मुझे सेक्सॉलजिस्ट से संपर्क करने की सलाह दी।

मेरे बहुत रिक्वेस्ट करने पर मेरे पति दिन में एक बार सेक्स करने की बात पर राजी तो हो गए लेकिन फिर उन्होंने कहा कि जब वह ऑफिस में होंगे तब हम फोन सेक्स करेंगे। पहले तो मुझे यह बहुत अजीब लगा लेकिन फिर मुझे लगा कि अगर मेरे पति मेरे लिए समझौता कर रहे हैं तो मुझे भी उनकी बात माननी चाहिए। हालांकि वह सिर्फ फोन सेक्स पर ही नहीं रुके। उन्होंने कहा कि हमें वेबकैम का इस्तेमाल कर सेक्स करना चाहिए। जब मैंने उनकी इस बात पर ध्यान नहीं दिया तो उस रात उन्होंने महज 3 घंटे के अंदर मेरे साथ जबरदस्ती 2-3 बार सेक्स किया।

कुछ समय बाद मैंने पति की बढ़ती डिमांड के सामने ना कहना सीख लिया और मैं सेक्स तभी करती थी जब मैं करना चाहती थी। अब मैं कोई सीधी-सादी नई नवेली दुल्हन नहीं थी। जब मेरे पति ने देखा कि मैं उनकी रिक्वेस्ट और धमकियों पर भी ध्यान नहीं दे रही हूं तो उनका व्यवहार मेरे प्रति रूखा सा हो गया।

एक दिन मेरे पति ने ऑफिस से मुझे फोन किया और कहा कि वह मेरे साथ इस बारे में चर्चा करना चाहते हैं। वह ऑफिस से जल्दी घर आ गए और मुझसे अपने बीते हुए कल की वो सारी बातें कहीं जिससे मैं अनजान थी। उन्होंने मुझे बताया कि किस तरह उनकी पिछली गर्लफ्रेंड्स को भी उनकी तीव्र और उत्तेजित कामेच्छा की वजह से दिक्कतें होती थीं और कोई भी उन्हें संतुष्ट नहीं कर पाता था। उन्होंने अपने व्यवहार के लिए मुझसे माफी भी मांगी लेकिन साथ ही यह भी कहा कि वह अपने इस व्यवहार को कंट्रोल नहीं कर सकते हैं।

कुछ समय बाद मैंने कहीं पढ़ा कि शादी टूटने की एक बड़ी वजह सेक्स भी होता है। हमारी शादी को 2 साल हो चुके थे और हम एक ही छत के नीचे अजनबियों की तरह रहते थे। आखिरकार मैंने फैसला किया कि हम अपनी शादी को यहीं पर खत्म कर देंगे। कभी-कभी किसी रिश्ते को बरकरार रखने के लिए सिर्फ प्यार ही काफी नहीं होता, सेक्शुअल कम्पैटिबिलिटी भी जरूरी होती है।