लंग कैंसर यानि फेफड़ों का कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। विश्व स्वास्थय संगठन WHO के सर्वे अनुसार, तकरीबन 7.6 मिलियन लोगों की मौत लंग कैंसर के कारण होती है। लंग कैंसर होने पर कई लक्षण दिखाई देते हैं जिन में से एक प्रमुख है खांसी। अगर खांसी का कुछ दिनों तक सही उपचार ना किया जाए और इलाज के बाद भी आराम ना मिले तो तुरंत जरूरी टेस्ट करवाएं। धूम्रपान करने वाले, तंबाकू खाना वाले लोगों को लंग कैंसर होने का खतरा ज्यादा होता है। हालांकि यह खतरनाक बीमारी किसी अन्य कारणों की वजह से भी हो सकती है।  आज हम आपको लंग कैंसर होने के कारण और इसके लक्षणों के बारे में बताएंगे।


फेफड़ों का कैंसर है क्या?

हमारे शरीर में दो फेफड़े होते हैं। इनमे से किसी एक की भी कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि होने के कारण टिश्यूज प्रभावित होने लगते हैं, जिससे लंग कैंसर होता है। फेफड़े शरीर को सांस पहुंचाने का काम करते हैं। इसके खराब होने पर शरीर में कई तरह की बीमारिया होने लगती हैं इसलिए समय रहते इलाज करवाना बहुत जरूरी है। 


 


लंग कैसर के कारणः-

- धूम्रपान करना

- फेफड़े के रो

- वायु प्रदूषण

- रेडॉन गैस

- एस्बेस्टोस फाइबर


लंग कैंसर के लक्षणः-

1. चेहरे और गले में सूजन

चेहरे और गले मे सूजन होना भी लंग कैंसर से होता है एेसा एन. एच. एस. का कहना है। अगर अचानक से गले और चेहरे में सूजन या कोई बदलाव दिखाई दे तो डॉक्टर से सलाह जरूर लें।


 


2. हड्डियों में दर्द

कैंसर के बढ़ने से जोड़ों, पीठ, कमर और शरीर के अन्य भागों में दर्द हो सकता है। कई बार हड्डियों में फ्रैक्चर भी हो सकता है।


 


3. पुरानी खांसी

लंबे समय तक खांसी रहना भी लंग कैंसर का कारण बन सकती है। आमतौर पर खांसी 2 से 3 हफ्ते तक होती है लेकिन अगर लंबे समय तक खांसी होने के साथ सीने में दर्द, और बलगम में खुन आए तो मामला गंभीर हो सकता है।


 


4. सांस लेने में कठिनाई

सांस लेने में कठिनाई होना, सीने में दर्द, सांस लेते समय घबराहट होना भी लंग कैसर के लक्षण होते है। जब भी एेसा हो तुंरत डॉक्टर जांच जरूर करवा लेंष


 


5. चेहरे और आवाज में बदलाव

इसका एक संकेत यह भी है कि इससे आवाज में भारीपन, कंधे और गर्दन में सूजन आ जाती हैं।


 


6. न्यूरोलॉजीकल लक्षण

कैंसर सेल्स का निर्माण होने पर  नर्वस सिस्टम और न्यूरोलॉजीकल फंक्शन में बदलाव आने से सिरदर्द, चक्कर आना, दौरे आना और पैर व कंधे में अकड़न हो सकती है।


 


7. कैल्शियम की मात्रा अधिक होना

कई बार शरीर में कैल्शियम की मात्रा अधिक हो जाती है, जिससे खून जमना शुरू हो जाता है। यह भी लंग कैंसर के कारण ही होता है।


 


8. लगातार थकान 

 लगातार थकान रहना या थोड़ा सा चलने पर भी सांस फुलने लगे तो यह भी लंग कैंसर के हो सकते हैं।