लोहड़ी के अगले दिन 'मकर संक्रान्ति' का त्योहार मनाया जाता हैं जिसे माघी भी कहते हैं। यह त्योहार सिर्फ उत्तर भारत ही नहीं बल्कि पूरे भारत में खास महत्व रखता हैं। इस दिन से सूर्य दक्षिण के बजाय उत्तर दिशा की तरफ गमन करने लगता है जिसे सेहत व शांति दोनों के लिए अच्छा होता है। कड़ाके की सर्दी में आने वाला यह त्योहार बहुत खास होता है। देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग तरीके से लोग इसे मनाते हैं। इसमें खान-पान का भी खास ख्याल रखा जाता है ताकि सेहत अच्छी रहे। आइए जानें कौन-सी चीजें खाकर आप इस त्यौहार में भी हैल्दी रह सकते हैं। 

1. गुड़ 

गुड़ और इससे बनी चीजें शरीर को नैचुरल तरीके से गर्म रखते हैं। यह पाचन क्रिया को भी दुरूस्त रखने में मददगार है। लोहड़ी और संक्रांन्ति के समय गुड़ वाली रेवड़ी और गजक लोग शौंक से खाते हैं। यह आपको सर्द हवाओं में बीमार होने से बचाता है।

 


2. तिल

तिल सेहत और ब्यूटी दोनों के लिए बैस्ट है। इससे त्वचा पर नैतुरल ग्लो भी बरकरार रहता है। पाचन क्रिया दुरूस्त रखने में भी यह बहुत लाभकारी है। तिल से बनी मिठाइयों खास लोहड़ी और मकर संक्रांन्ति पर ही खाई जाती हैं। 

 


3. मूंगफली


मूंगफली को सर्दियों के लिए बैस्ट माना जाता है। यह शरीर को जरूरी वसा प्रदान करने का काम करती है और ठंड़ से भी बचाव रखती हैं। 

 


4. घी 

सर्दीयों के मौसम में रोग प्रतिरोधक क्षमता का मजबूत होना बहुत जरूरी है। इससे बीमारियों से बचाव रहता है। इस मौसम में देसी घी का सेवन भी जरूर करना चाहिए। दिन में कम से कम 1 चम्मच घी सब्जी में डालकर खा सकते हैं। 

 


5. सूखे मेवे 

ड्राई फ्रूट की तासीर गर्म होती है। सेहत और ब्यूटी दोनों के लिए यह फायदेमंद है। इस मौसम में यह संक्रमण से बचाव रखते हैं। 

 


6. खिचड़ी


यह दिन देश भर में अच्छी फसल होने की खुशी में भी मनाया जाता है। लोग इस दिन खिचड़ी भी खाते हैं। दरअसल चावल की अच्छी पैदावार होने की वजह से भी खिचड़ी खाने का महत्व है। देसी महीनों के मुताबिक यह साल का पहला दिन होता है और इस दिन का स्वागत चावल के साथ किया जाता है।