नई दिल्ली. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कुआलालंपुर में फंसी एक महिला को उसके बेटे के शव के साथ भारत लाने में मदद की। महिला अपने बेटे के साथ ऑस्ट्रेलिया से भारत आ रही थी, लेकिन कुआलालंपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (KLIA) पर अचानक उसके बेटे की मौत हो गई। मृतक के दोस्त ने ट्वीट करके उनसे मदद मांगी थी।



'मेरे दोस्त की मौत हो गई, मां शव कैसे लाए?'


रमेश नाम के शख्स ने अपने ट्वीट में लिखा, "विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, जरूरी और विनम्र अनुरोध, मेरे करीबी दोस्तों में से एक अपनी मां के साथ ऑस्ट्रेलिया से भारत आ रहे थे। कुआलालंपुर एयरपोर्ट पर वे अचानक गिरे और उनकी मौत हो गई। मेरे दोस्त की मां KLIA पर अकेली हैं। पता नहीं उन्हें मदद कैसे मिलेगी।"


सुषमा ने दिया था मदद का भरोसा


- रमेश के इस ट्वीट पर सुषमा स्वराज ने उनके दोस्त की मौत पर शोक जताया और कुआलालंपुर में इंडियन हाईकमीशन से पूरी मदद दिए जाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि उनके दोस्त की बॉडी सरकार के खर्च पर भारत लाई जाएगी। 

- सुषमा ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, "इंडियन हाई कमीशन के अफसर मां और उनके दिवंगत बेटे के साथ हैं। वे मलेशिया से चेन्नई पहुंच रहे हैं। शोक संतप्त परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं।"


विदेश मामलों में भारतीयों की मदद के लिए मशहूर हैं सुषमा


- यह पहला मौका नहीं है, सुषमा स्वराज ने मुसीबत में फंसे किसी भारतीय की मदद की हो।


- हाल ही में राजस्थान की भानुप्रिया हरितवाल के अमेरिका जाने के सपने को पूरा किया था। उन्हें कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के लिए स्कॉलरशिप मिली थी, लेकिन अमेरिकन एंबेसी से वीजा ना मिलने की वजह से उसे परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। हालांकि, सुषमा स्वराज की पहल के बाद वीजा जारी किया गया।