नई दिल्ली: तकनीक के बेहतर होने के साथ समस्याएं भी बढ़ रही हैं. एक ताजा मामले में पुरानी दिल्ली के एक हार्डवेयर व्यापारी का डेटा हैक (इनक्रिप्ट) किया गया और हैकर ने फिरौती में व्यापारी से तीन बिटकॉइन मांगे. व्यापारी ने इस पूरे मामले की शिकायत पुलिस में की. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.


पुरानी दिल्ली के हार्डवेयर व्यापारी मोहन गोयल ने चार दिसंबर को दफ्तर जाकर जब अपना लैपटॉप खोला तो उनके होश उड़ गए. उनके स्क्रीन पर मैसेज आ रहा था जिसमें लिखा था कि उनकी कंपनी के सर्वर का पूरा ब्यौरा इनक्रिप्ट कर लिया गया है, यानि हैक हो गया है. साथ में संपर्क के लिए एक ईमेल भी था. जब मेल पर मोहन गोयल ने हैकर से संपर्क किया तो हैकर ने मोहन से अपना ब्यौरा वापस पाने के लिए तीन बिटकॉइन मांगे जो कि लगभग 54 लाख रुपये के होते हैं.

मोहन ने जाकर मामले की शिकायत पुलिस से की. पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने मामले की एफआईआर दर्ज़ कर ली है और जांच में जुट गई है. दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के ज्वाइंट कमिश्नर का कहना है कि “पुलिस ने वसूली का मुकद्दमा दर्ज़ किया है. यह अपने आप में दिल्ली का पहला मामला है. इस पूरे मामले में साइबर सेल की भी मदद ली जा रही है.”

पुलिस को पुरानी दिल्ली के दो और व्यापारियों ने ऐसी ही शिकायतें की हैं. विशेषज्ञों की मानें तो रोज़ बैकअप लेना ही इस समस्या का एक मात्र उपाय है.