'मध्य प्रदेश में किसानों के लिए चलाई जा रही भावांतर योजना डकैत योजना है जिसमें प्रदेश के किसानों को ठगने का प्रयास किया जा रहा है. ये मंडी एक्ट का उल्लंघन है जिसे लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान पर मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए.'


ये कहना है राष्ट्रीय किसान मजूदर संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिव कुमार शर्मा उर्फ कक्का जी का. जबलपुर प्रवास पर आए कक्का जी ने गाडरवारा में चल रहे किसान के आंदोलन पर भी सरकार को आड़े हाथ लिया.


कक्का जी ने कहा कि किसानों की ज़मीन औने-पौने दाम पर अधिग्रहित कर ली गई जबकि किसानों और मजदूरों के लिए प्रदेश की रोजगार नीति पूरे देश में सबसे कमज़ोर है. प्रदेश में किसानों के ज़मीन के बदले रोजगार का कोई प्रावधान नही है, जबकि अन्य प्रदेशों में ऐसा नही है. यही कारण है कि एनटीपीसी के सैकड़ो किसान और मजूदर 22 दिसम्बर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं. सरकार की इन्ही नीतियों के चलते आज ये हालात बने हैं.


गौरतलब है कि गाडरवारा के किसानों के समर्थन के लिए पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिंन्हा और सोमनाथ शस्त्री जबलपुर आ रहे है जो गुरुवार को राष्ट्रीय किसान मजूदर संघ के बैनर तले गाडरवारा के किसान आंदोलन मे शामिल होंगे.