भारतीय जनता पार्टी अब अपने नेताओं को अमर बनाने के लिए प्रदेश में नया अभियान शुरु करने जा रही है. दरअसल, संघ और बीजेपी से जुड़े ऐसे लोगों का डिजिटल डाटा तैयार किया जा रहा है, जिन्होंने कभी न कभी पार्टी और समाज के लिए अपना योगदान दिया. इस काम को अमली जामा पहनाने के लिए प्रदेश मुख्यालय में निचले स्तर तक के कार्यकर्ताओं को दिल्ली से आकर एक्सपर्ट ट्रेनर ट्रेनिंग दे रहे हैं.


मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बाकायदा कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दी जा रही है कि कैसे उन्हें अपने गली मोहल्ले से संघ और बीजेपी के उन नेताओं का इतिहास तलाश कर बाहर लाना है. ऐसे नेता जिनका इतिहास अब तक लोगों के सामने तक नही हैं. इसके लिए दिल्ली से ट्रेनर की टीम भोपाल आकर ट्रेनिंग को अमली जामा पहना रही है.


बीजेपी के डॉक्यूमेंटेशन एंड लाइब्रेरी सेल ने देश भर में संघ और बीजेपी के उन नेताओं से जुड़ी जानकारी इकट्ठा करने का बीड़ा उठाया है जिनका पार्टी के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कभी भी किसी भी रूप में योगदान रहा है. इस काम के लिए डॉक्यूमेंटेशन एंड लाइब्रेरी सेल से जुड़े सदस्यों को ताकीद की गई है कि वो अपने इलाके में जहां भी संघ या बीजेपी से जुड़े नेताओं के दस्तावेज हों उन्हें इकट्ठा कर डिजीटली तैयार करें.


जानकारी के मुताबिक एक बार मध्य प्रदेश समेत देश भर का डाटा तैयार करने के बाद इसे पार्टी ऑलाइन और सोशल मीडिया के जरिए डिजिटली प्रेजेंट करेगी. ऐसे में सवाल यही कि कहीं ये बीजेपी का अपने नेताओं को अमर बनाने का नया प्लान तो नहीं है.