ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर सर डॉन ब्रैडमैन को दुनिया का महानतम बल्लेबाज माना जाता है। ब्रैडमैन ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में करीब 100 की औसत से रन बनाए हैं, दुनिया के दिग्गज से दिग्गज बल्लेबाज भी ब्रैडमैन के औसत के आस-पास नहीं भटक पाए, लेकिन अफगानिस्तान के एक बल्लेबाज ने इस मामले में ब्रैडमैन को पीछे छोड़ दिया है।


क्रिकेट के मैदान पर कोई भी रिकॉर्ड तोड़ पाना नामुमकिन नहीं होता, इस बात को बहीर शाह ने साबित कर दिया है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ब्रेडमैन का औसत 99.94 का है। बहीर ने फिलहाल ब्रेडमैन को दूसरे नंबर पर धकेल दिया है। बहीर का औसत 121.77 का है।


बहीर इस समय न्यूजीलैंड में 13 जनवरी से शुरू होने वाले  अंडर-19 वर्ल्ड कप खेलने के लिए अपने देश की टीम में हैं। 18 साल के बहीर ने अपने पहले मैच में ही 256 रनों की नॉटआउट पारी खेली और इसके बाद भी वो लगातार रन बना रहे हैं। उन्होंने पहली छह पारियों में 831 रन बनाए, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

बहीर अब तक 121.77 के औसत से 1000 से ज्यादा रन बना चुके हैं। 256 रनों की नॉटआउट पारी खेलने के एक मैच बाद ही उन्होंने फिर दोनों पारियों में सेंचुरी ठोकी। अंडर-19 वर्ल्ड कप में इस बल्लेबाज पर सबकी नजरें टिकी होंगी। पहले मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में बहीर दूसरे नंबर पर हैं। अपनी तीसरी ही पारी में उन्होंने ट्रिपल सेंचुरी जड़ी थी। सबसे कम उम्र में ट्रिपल सेंचुरी ठोकने के मामले में वो दूसरे नंबर के बल्लेबाज बन गए हैं। इस मामले में सबसे कम उम्र के बल्लेबाज पाकिस्तान के जावेद मियांदाद हैं।

बहीर का आदर्श बल्लेबाज विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, केन विलियमसन और जो रूट नहीं बल्कि दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज हाशिम अमला हैं। उनका मानना है कि अमला कठिन से कठिन समय में भी काफी शांत तरीके से खेलते हैं। बहीर ने अपनी उस पारी के बारे में भी बताया, जिसे वो कभी नहीं भूल सकते। उन्होंने कहा, 'उस पारी को खेलने के लिए मैं दो दिनों तक क्रीज पर रहा। उस टूर्नामेंट से पहले मैंने अपनी फिटनेस पर काफी काम किया था, इसलिए लगातार दो दिनों तक खेलने के बावजूद मुझे फिटनेस संबंधी कोई परेशानी नहीं हुई।'

बहीर के पास दुनिया में सबसे जल्दी 1000 फर्स्ट क्लास रन बनाने का मौका था, पर वो इससे चूक गए। वो इस मामले में बिल पॉन्सफोर्ड को पीछे छोड़ सकते थे। हालांकि, इसमें उनकी कोई गलती नहीं थी। जिस मैच में वो ये रिकॉर्ड तोड़ सकते थे, वो बारिश के कारण पूरा नहीं हो सका। उस मैच में शाह 9 रन बनाकर नॉटआउट रहे थे।