बीजेपी जिस दीनदयाल उपाध्याय की विचारधारा के नाम पर बड़े-बड़े दावे करती है उन्हीं दीनदयाल उपाध्याय का बीजेपी दफ्तर के अंदर अपमान हो रहा है.


आलम ये है कि जिस कार्यक्रम में दीनदयाल उपाध्याय और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छपी तस्वीरों वाली किताबों को कार्यकर्ताओं को बांटने के लिए लाया गया था उसी कार्यक्रम के दौरान ये किताबें चाय की प्लेट में कू़ड़ेदान के पास पड़ी मिली.  ये तस्वीरें मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित भाजपा के प्रदेश मुख्यालय की है.


हैरानी की बात ये है कि इस कार्यक्रम में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नंद कुमार सिंह चौहान भी मौजूद थे. तस्वीरों में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह ये किताबें चाय की प्लेट में कार्यक्रम स्थल के बाहर कूड़ेदान के पास पड़ी हैं लेकिन बीजेपी के किसी नेता को इसकी परवाह नहीं.


दीनदयाल उपाध्याय से जुड़ा मामला होने की वजह से भाजपा के बड़े नेता इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से बच रहे है. वहीं, कांग्रेस के नेता इस मुद्दे पर भाजपा के नेताओं की कथनी और करनी में अंतर बताते हुए तीखे कटाक्ष कर रहे है.