यूरिन इंफैक्शन यानी पेशाब करते समय जलन या दर्द होना। यह समस्या स्त्री या पुरूष दोनों को कभी भी हो सकती है। कई बार तो यह समस्या कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है लेकिन बहुत सी बार डॉक्टरों के पास जाने तक की नौबत आ जाती है। हम लोग अक्सर यूरिन इंफैक्शन को अनदेखा कर देते है जो बाद में कई समस्याओं का कारण बनता है। ऐसे आपको चाहिए कि जब भी यूरिन करते समय जलन या दर्द हो तो तुरंत इलाज शुरू कर दें, ताकि बाद में किसी प्रकार की कोई बड़ी बीमारी होने का खतरा टल जाए। आज हम आपको यूरिन इंफैक्शन के कारण, लक्षण और इसके इलाज के लिए कुछ घरेलू नुस्खे बताएंगे, जिन्हें आप घर पर ही ट्राई करके देख सकते है।


 


यूरिन में जलन के कारण

- मूत्र मार्ग में संक्रमण या ब्लैडर में सूजन 

- किडनी में पथरी होना

- शरीर में पानी की कमी 

- लीवर प्रॉब्लम होना

- रीढ़ की हड्डी में चोट लगना

- शुगर की बीमारी होना


यूरिन में जलन के लक्षण

- यूरिन से स्मैल आना 

- ब्लैडर में दर्द रहना

- बार-बार यूरिन आना 

- यूरिन का रंग पीला हो जाना 

- बूंद-बूंद पेशाब आना

- पेट और मूत्र मार्ग में जलन


चलिए आपको बताते है पेशाब करते समय जलन और दर्द के कुछ घरेलू इलाज:-


1. अधिक पानी पीना 


अगर यूरिन लग कर आ रहा है तो हर एक घंटे में पानी का गिलास पीएं। इससे ब्लैडर में जमा हुए बैक्टीरिया बाहर निकल जाएगे और शरीर में पानी की कमी भी नहीं होगी। 


2. सिट्रिक एसिड युक्त फल

जिन फलों और सब्जियों में सिट्रिक एसिड की मात्रा अधिक होती है, उनका सेवन करें। यह एसिड यूरिन इंफैक्शन बनाने वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देता है। ऐसे में खट्टे फल यानी नींबू, मौसमी अन्य आदि का सेवन करें। 


3. नारियल पानी पीएं

नारियल पानी पीने से भी यूरिन के दौरान होने वाली जलन कम हो सकती है। साथ ही रोजाना नारियल पानी पीने से शरीर को पानी और मिनरल्स भरपूर मात्रा में मिलते है।


4. चावल का पानी 

आधा गिलास चावल के पानी में चीनी मिलाकर पीने से यूरिन में होने वाली जन कम हो सकती है। 


5. बादाम और इलायची


बादाम की 5 गिरी में 7 छोटी इलायची और मिसरी डालकर पीस लें। फिर इसे पानी में घोलकर पीएं। इससे दर्द और जलन कम होती है। 


यूरिन इंफैक्शन के आयुर्वेदिक उपचार


1. आंवला और इलायची 

आंवले का चूर्ण में इलायची मिलाकर पानी के साथ पीएं। इससे यूरिन की जलन कम होगी। 


2. बेकिंग सोडा और पानी

अगर यूरिन इंफैक्शन के दौरान बार-बार पेशाब आए तो 1 गिलास पानी में 1 चम्मच सोडा मिलाकर पीएं। इससे एसिडिटी और जलन की समस्या कम होगी। 


3. गेहूं और मिसरी

रात को सोने से पहले 1 मुट्ठी गेंहू को पामी में भिगोएं और सुबह उसी पानी को छान लें। फिर उसमें मिसरी मिलाकर खाएं।