नयी दिल्ली : क्रिकेट के 'भगवान' सचिन तेंदुलकर कुछ दिनों से अपने परिवार को लेकर काफी परेशानियों से गुजर रहे हैं. कुछ दिनों पहले उन्होंने बेटी सारा और बेटा अर्जुन के नाम से सोशल मीडिया में फेक अकाउंट होने की शिकायत की थी. उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से अपने फैन्स को बताया था कि उनके बेटे और बेटी सोशल मीडिया से बाहर हैं. दोनों का कोई भी आधिकारिक अकाउंट नहीं है, इसके बाद भी दोनों के नाम से सोशल मीडिया पर फेक अकाउंट चल रहे हैं. यह गलत है.

 

बहरहाल अब सचिन तेंदुलकर के सामने एक नयी परेशानी खड़ी हो गयी है. उनकी बेटी सारा को कुछ दिनों से एक शख्स फोन कर परेशान कर रहा था. परेशान करने के साथ-साथ उस शख्स ने सारा को अगवा करने की धमकी भी दे रहा था. इसकी जानकारी मिलने के बाद सचिन के परिवार ने पुलिस में शिकायत की. तब पुलिस ने मामले की छानबिन शुरू कर दी और पुलिस ने आरोपी देवकुमार मैती को पश्चिम बंगाल के मिदनापुर से गिरफ्तार किया.

सचिन तेंदुलकर की बेटी को टीवी के पर्दे पर देखने के बाद से ही उसके प्रति आसक्त हो गया था 33 वर्षीय देवकुमार माइती. पूर्व मेदिनीपुर के महिषादल का रहने वाला देवकुमार पेशे से पेंटर है. आरोप है कि तेंदुलकर के ऑफिस में फोन करके देवकुमार उनकी बेटी को प्रेम का प्रस्ताव दे रहा था. 

मुंबई पुलिस सूत्रों के मुताबिक उन्मादी की तरह वह फोन करने लगा था. तेंदुलकर की बेटी सारा के साथ शादी करने का प्रस्ताव वह देने लगा था. आखिरकर तेंदुलकर ने मुंबई के बांद्रा थाने में इसकी शिकायत दर्ज करायी थी. पुलिस ने शिकायत दर्ज करके देवकुमार को गिरफ्तार कर लिया. 

हल्दिया अदालत के निर्देश पर रविवार को उसे तीन दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर पुलिस मुंबई ले गयी. एसजेएम अदालत में न्यायाधीश ने देवकुमार की मानसिक हालत की जांच करने का भी निर्देश दिया है. घटना को लेकर देवकुमार के परिजन बेहद चिंतित हैं. पुलिस के अनुसार देवकुमार को रोकने के लिए सचिन के ऑफिस के कर्मचारियों ने काफी कोशिशें की. लेकिन रुकने की बजाय उसका आचरण और उग्र हो गया था. आखिरकार जब हालात काबू से बाहर हो गये तो पुलिस को इसकी सूचना दी गयी. 

देवकुमार का एक बड़ा भाई है. गत सितंबर महीने में उसके पिता की मौत हो गई थी. विधवा मा कनकलता माइती वह भाई के साथ वह रहता था. प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2010 से देवकुमार मानसिक अवसाद से भुगत रहा है. उसकी चिकित्सा भी चल रही है. लेकिन वह ऐसा कर गुजरेगा किसी ने नहीं सोचा था. देवकुमार के पड़ोसी श्यामसुंदर दे ने महिषादल थाने में पहुंचकर मुंबई पुलिस के अधिकारियों को देवकुमार की हालत के बारे में बताया. 

उन्होंने बताया कि स्थानीय एक युवती के साथ उसका संबंध था. लेकिन युवती की अन्यत्र शादी हो जाने पर वह मानसिक रूप से बीमार हो गया. कुछ वर्ष पहले एक बाइक हादसे के बाद उसका अवसाद और बढ़ गया. देवकुमार की मा कनकलता ने बताया कि उनके बेटे ने यह काम मानसिक अवसाद के चलते ही किया है. उन्होंने अपने बेटे की चिकित्सा करायी जाने की मांग की है. रविवार को हल्दिया अदालत में देवकुमार की मानसिक स्थिति और भी स्पष्ट हुई जब संवाददाताओं के सवाल में उसने कहा कि सारा तेंदुलकर के साथ उसकी शादी की बात उन्हें आसमान से पता चली है. 

आसमान को उन्होंने अपने प्रेम की बात बताई थी. एक रात आकाश में बिजली कड़कड़ाई और उन्हें उनके प्रेम की सहमति आकाश ने दे दी. इसके बाद से उन्होंने सचिन तेंदुलकर के कार्यालय का नंबर हासिल किया और फोन करके शादी का प्रस्ताव दिया. 25-30 बार फोन करके अपने मन की बात बताई. हिंदी अच्छे तरीके से न जानने पर भी बांग्ला व हिंदी मिलाकर उसने यह प्रस्ताव दिया. देवकुमार ने कहा कि सचिन भले ही विश्व स्तरीय सितारे हैं वह भी कम नहीं. जहाज व ट्रेन उन्हें देखकर रुक जाते हैं.