ग्वालियर मध्य प्रदेश में ग्वालियर के टेकनपुर में चल रही डीजी कॉन्फ्रेंस के दौरान देश के बेहतरीन थानों को उनकी व्यवस्थाओं के लिए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सम्मानित किया है. हैरानी की बात ये है कि जिन थानों को सबसे बेहतर व्यवस्था के लिए सम्मानित किया गया है उनमें टॉप टेन में मध्य प्रदेश का एक भी थाना शामिल नहीं हैं.


खास बात ये है कि टॉप 10 आने वाले थानों में मध्य प्रदेश के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के दो-दो थाने शामिल हैं. टॉप टेन थानों में मध्य प्रदेश के थाने शामिल न होने से एमपी पुलिस को स्मार्ट बनाने के दावे पर सवाल खड़े हो रहे हैं.


ये हैं देश के टॉप टेन थाने 

1.आर एस पुरम, कोयंबटूर

2.पंजागुट्टा, हैदराबाद

3.गुडंबा, लखनऊ

4.धूपगुरी, जलपाईगुड़ी

5.के4, अन्नानगर, चेन्नई

6.बनभूलपारा, नैनीताल

7.घिरोर, मैनपुरी

8.ऋषिकेश, देहरादून

9.वलापट्टनम, कन्नूर

10.कीर्ति नगर, दिल्ली


देश के टॉप टेन थानों की लिस्ट में एमपी का एक भी थाना न होने को लेकर मध्य प्रदेश में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के नेता अपनी ही सरकार को घेर रहे हैं बीजेपी के प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि मध्यप्रदेश पुलिस को इसे गंभीर चुनौती के रुप में लेना चाहिए.