नई दिल्ली: नए साल में जहां एक्सिस और एसबीआई बैंक ग्राहकों को सौगात दी वहीं अब लोगों को 2018 में पहला झटका लगने जा रहा है । जी हां  ये खबर शायद आपके होश उड़ा दें। अब तक जो सेवाएं आपकों मुफ्त मिल रही थी अब आपकों उन बैकिंग सेवाओं के लिए पैसे चुकाने होंगे हालांकि, कुछ सुविधाओं के लिए शुल्क की समीक्षा होगी। इन सुविधाओं में पैसा निकालने, जमा करने, मोबाइल नंबर बदलवाने, केवाईसी, पता बदलवाने, नेट बैंकिंग और चेक बुक के लिए आवेदन करने जैसी सुविधाएं शामिल हैं।


देशभर के सभी खाताधारक होंगे प्रभावित 

बैंक से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, नए शुल्कों को लेकर आंतरिक आदेश मिल चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक, सभी बैंक आर.बी.आई. के निर्देशों का पालन करते हैं। नियमों के अनुसार संबंधित बैंक का बोर्ड सभी सेवाओं पर लगने वाले शुल्क का फैसला लेता है। बोर्ड की मंजूरी के बाद ही अंतिम फैसला लिया जाता है। बैंकों के इस कदम से देशभर के सभी खाताधारक प्रभावित होंगे, हालांकि, बैंकर्स ने इस कदम को सही बताया है।उनका कहना है कि खाताधारक अगर अपनी होम ब्रांच के अतिरिक्त किसी अन्य ब्रांच से बैंकिंग सेवाएं लेता है तो शुल्क लगना चाहिए।

दूसरी ब्रांच में ट्रांजैक्शन पर चुकाना होगा शुल्क

अपने खाते वाली शाखा के अलावा, बैंक की दूसरी शाखा से सेवा लेने के लिए अलग से शुल्क चुकाना होगा। शुल्क के अलावा जीएसटी भी लगेगा. इसके लिए बैंक आपको अलग से चार्ज नहीं करेगा बल्कि जो भी शुल्क होगा वह आपके खाते से काट लिया जाएगा। बैंक से जुड़े एक अधिकारी के मुताबिक इस कदम से ऑनलाइन बैंकिंग को बढ़ावा मिलेगा।  इससे चेक और डिमांड ड्राफ्ट भी अप्रासंगिक हो जाएंगे। एटीएम और कियॉस्क मशीनों से पासबुक अपडेट और पैसों का लेनदेन भी निशुल्क किया जा सकेगा।


ये है नियम

-सेल्फ चेक के लिए 50, 000 की रकम निकलवाने पर आपको 10 रुपए चार्ज देना लगेगा। 

-कोई तीसरी व्यकित आपके बैंक अकाउंट से 10 हजार रुपए ही निकाल पाएंगा। 

-सेविंग अकाउंट में अधिकतम 2 लाख तक कैश करवा सकेंगे जमां। सेविंग अकाउंट में 

-रोजाना 50 हजार जमा करवामा फ्री होगा लेकिन इसके बाद अगर आप  अकाउंट में पैसे जमा करवाते है तो आपको प्रति हजार 2.50 रुपए चार्ज देना होगा। 

-इंटरनेट मोबाई बैकिंग के लिए लगेंगा 25 रुपए का चार्ज। 

-पिन और पासवर्ड लेने या बदलने के लिए आपको 10 रुपए चुकाने होंगे।