मुंबई। साल बदल गया, लेकिन नेपोटिज़्म ने करण जौहर का पीछा नहीं छोड़ा है। कंगना रनौत ने ऐसे मुद्दे को हवा दे दी थी, जो 2018 में भी करण के पीछे-पीछे चला आया और फ़ाइनली करण को कहना पड़ा कि वो इस मुद्दे पर किसी से बात नहीं करेंगे।


स्टार प्लस पर इंडियाज़ नेक्स्ट सुपरस्टार्स शो की शुरुआत हो रही है, जिसमें रोहित शेट्टी और करण जौहर मिलकर नये टैलेंट की तलाश करेंगे। करण के सामने यह सवाल आने ही थे, क्योंकि यह पहली बार हो रहा है कि करन किसी टैलेंट हंटिंग शो का हिस्सा बने हैं, जिसमें विजेता कलाकार को करण और रोहित की ही फ़िल्म में काम करने का मौका मिलेगा। ऐसे में कंगना से जुड़े सवालों से करण घिरे बिना नहीं रह सकते थे। शो की टैगलाइन ना कोई खानदान, ना कोई सिफ़ारिश है। माना जा रहा है कि करण ने इस शो को हां इसलिए कहा है, ताकि वो नेपोटिज्म को लेकर चली आ रही बहस से बाहर निकल सकें।

करण से यह पूछा गया कि क्या वह इस शो की उपज के लिए कंगना को क्रेडिट देना चाहेंगे, क्योंकि नेपोटिज्म के मुद्दे पर बोलने की शुरुआत कंगना ने ही की थी तो करण ने बातों को घुमाते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि शो का कांसेप्ट चैनल का है तो क्रेडिट भी उन्हें ही मिलना चाहिए।