कराची पाकिस्तान में झूठी शान के नाम पर लड़की और उसके मंगेतर की गोली मारकर हत्या करने की सनसनीखेज घटना सामने आई है. पाकिस्तान के सिंध प्रांत में लड़की के मामा ने सिर्फ इसलिए अपनी भांजी और उसके मंगेतर की हत्या कर दी, क्योंकि दोनों शादी से पहले बातचीत कर रहे थे.


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घोटकी गांव के नयी वही गांव की यह घटना है. कथित तौर पर पीड़िता नजीरान अपने होने वाले पति शाहिद के साथ बातचीत कर रही थी और नजीरान के मामा ने दोनों को बातचीत करते हुए देख लिया.


नजीरान के मामा को यह छोटी सी बात इतनी नागवार गुजरी कि उसने अपनी भांजी नजीरान और उसके होने वाले पति शाहिद को गोली मार दी. पुलिस के मुताबिक, शाहिद और नजीरान एकदूसरे के रिश्तेदार थे और यह हत्या झूठी शान की खातिर हत्या का मामला है.


गौरतलब है कि भारत में भी झूठी शान के नाम पर ऐसी जघन्य वारदातें अक्सर सुनने को मिलती हैं. हाल ही में राजस्थान के धौलपुर से भी ऐसी ही खबर आई थी कि बेटी के किसी से प्रेम करने से नाराज होकर पिता, चाचा और भाइयों ने मिलकर 11वीं में पढ़ने वाली एक लड़की की हत्या कर दी थी.


पिता ने सिर्फ शंका के आधार पर नाबालिग बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. हत्या करने के बाद पिता ने भाई के साथ मिलकर बेटी की लाश को जला भी दिया. पुलिस के मुताबिक, 17 वर्षीय पीड़िता गांव के नजदीक ही एक स्कूल में 11वीं में पढ़ती थी. उसका किसी से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिससे परिवार वाले नाराज चल रहे थे. पिता बनियाराम मीणा बेटी से मिलने के लिए 8 दिसंबर को गया था. लेकिन बेटी कमरे में नहीं मिली. शाम तक बेटी नहीं आई तो वह लौट आया.


इसके बाद नाराज पिता ने 10 दिसंबर को किसी को भेजकर बेटी को बुलवाया. शाम करीब 4 बजे नाबालिग बेटी अपनी मां के साथ किसी काम से घर के बाहर जा रही थी. लेकिन पिता ने उसे घर के बाहर नहीं जाने दिया. घर में बनियाराम और पीड़िता का चाचा उदयसिंह रह गए.


पहले बनियाराम ने शराब पी और उसके बाद तमंचे से बेटी को बिल्कुल नजदीक से गले में गोली मार दी. पीड़िता की मौके पर ही मौत हो गई थी. घटना के बाद मृतका के चाचा और भाइयों ने शव को गांव में ही गुपचुप तरीके से जला दिया . लेकिन गांव के ही अज्ञात लोगों ने पुलिस की इसकी सूचना दे दी.