जिस तरह से बात-बात में महिलाओं और पुरुषों के बीच तुलना की जाती है ठीक उसी तरह मांसाहारी और शाकाहारी लोगों के बीच होता है। इन्हें अकसर अलग-अलग पैरामीटर्स पर कंपेयर किया जाता है। अब एक और तुलना सामने आयी है जिसमें सेक्स की फ्रीक्वेंसी को लेकर शाकाहारी और मांसाहारी लोगों के बीच तुलना की गई। जी हां..एक मीट कंपनी ने एक सर्वे करवाया जिसमें यह जानने की कोशिश की गई कि मांसाहारी और शाकाहारी लोग कितनी बार सेक्स करते हैं और इस सर्वे के नतीजे चौंकाने वाले हैं...

इस सर्वे के नतीजे बताते हैं कि दिन में एक बार मांस खाने वाले 42 प्रतिशत लोग सप्ताह में कम से कम एक बार सेक्स करते हैं जबकि शाकाहारी लोग और ऐसे लोग जो 15 दिन में एक बार मांस खाते हैं, उनमें से सिर्फ 16 प्रतिशत लोग ही ऐसे हैं जो सप्ताह में एक बार सेक्स करते हैं।

यह सर्वे यूके में हुआ था और इसमें ब्रिटेन के 2 हजार लोगों को शामिल किया गया था। हालांकि यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि यह सर्वे एक मीट कंपनी की ओर से करवाया गया था जो मांसाहार बेचने का काम करती है।

अलग-अलग देशों में इसके आंकड़े अलग-अलग थे। सबसे ज्यादा 49 प्रतिशत कामुक मांसाहारी वेल्श में पाए गए जबकि इंग्लैंड में 46 प्रतिशत और स्कॉटलैंड में 40 प्रतिशत।

इस सर्वे से जो एक इंट्रेस्टिंग बात सामने आयी वह यह थी कि किसी रोमांटिक नाइट से पहले सर्व की गई सबसे फेमस डिश थी- स्टीक यानी मांस का टिक्का। दूसरे नंबर पर थी फ्राई रम्प, तीसरे पर रोस्टेड डिनर और स्पेगेटी बोलोग्नीज।

हालांकि इससे पहले भी कई बार इस तरह की स्टडी हुई है जिसमें इस बात का खुलासा हुआ है कि वेजिटेरिअन्स यानी शाकाहारी लोग, सेक्स करने के मामले में मांसाहारी से बेहतर हैं। हालांकि ज्यादातर लोग इस बात को नहीं मानते। उनका कहना है कि सेक्स हर व्यक्ति पर निर्भर करता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह शाकाहारी है या मांसाहारी।