ग्वालियर। जीवाजीगंज निवासी 74 वर्षीय विमल घटक का शुक्रवार की रात निधन हो गया। उनकी अंतिम यात्रा शनिवार को सुबह उनके निवास से निकली और गजराराजा मेडिकल कॉलेज के एनाटॉमी विभाग में पहुंची। परिजनों ने पार्थिव देह को कॉलेज के प्रोफेसर को सौंप दिया। उनकी डेड बॉडी के जरिए मेडिकल स्टूडेंट शरीर की संरचना जानेंगे। इसके पूर्व नेत्रदान भी कराया गया।


जीवाजीगंज पीजीवी कॉलेज के पास रहने वाले विमल घटक मेडिकल स्टोर चलाते थे। उनके भाई विष्णु घटक होम्योपैथी डॉक्टर हैं। इसके अलावा उनकी दो बेटी ज्योति और जबां हैं। ग्वालियर में विमल अकेले ही रहते थे। उनकी अंतिम इच्छा थी कि उनका अंतिम संस्कार नहीं किया जाए, बल्कि उनके शव को मेडिकल कॉलेज को सौंप दिया जाए। इसके चलते शुक्रवार रात को विमल ने अंतिम सांस ली तो उनकी बेटी ज्योति ने तत्काल इसकी सूचना मेडिकल कॉलेज को दी। साथ ही नेत्रदान की प्रक्रिया भी रात को ही पूरी की गई। सुबह परिजन पार्थिव देह को लेकर जीआर मेडिकल कॉलेज के एनाटॉमी विभाग पहुंचे और पार्थिव देह कागजी कार्रवाई के बाद सौंप दी गई। डॉक्टरों की टीम ने कैमिकल ट्रिटमेंट कर शव को सुरक्षित करने की प्रक्रिया पूरी की।


अब तक कितनों ने किया देहदानः


सन्‌------- देहदान


2000----1


2003----1


2008----1


2011----3


2013----2


2016----6


2017----6