इंदौर। शहर में वाहन के शौकीनों ने 2017 में करीब डेढ़ लाख वाहन खरीदे हैं। यह संख्या 2016 में बिके वाहनों से 29 हजार ज्यादा है। यह आंकड़ा पूरे प्रदेश में सबसे अधिक है।


सोमवार को परिवहन विभाग ने पिछले साल इंदौर में बिके वाहनों के आंकड़े जारी किए हैं। आरटीओ एमपी सिंह ने बताया कि वर्ष 2017 में शहर में बिकने वाले वाहनों की संख्या में वृद्वि हुई है। इंदौर में कारों की ब्रिकी में भी इजाफा हुआ है। दोपहिया वाहनों की ब्रिकी में भी वृद्वि हुई है।


उन्होंने बताया कि इस साल मार्च में बीएस 3 वाहनों की ब्रिकी और रजिस्ट्रेशन पर रोक लगने से ही काफी प्रभाव पड़ा है। 30 और 31 मार्च को ही शहर में 3 हजार से ज्यादा वाहन बिक गए थे। इंदौर में डीलरों में कॉम्पटिशन और रजिस्ट्रेशन की सुविधाओं को देखते हुए बाहर के लोग भी यहां से वाहन ले रहे हैं, जिससे इंदौर में वाहनों की बिक्री बढ़ती जा रही है। इसी के साथ इंदौर आरटीओ में रजिस्टर्ड वाहनों की संख्या 18 लाख से अधिक हो गई है। इंदौर में खाली पड़े वीआईपी नंबरों की संख्या भी बढ़कर 21 हजार से ज्यादा हो गई है, जो पूरे प्रदेश में सबसे अधिक है।