मध्य प्रदेश में मानवता को शर्मसार करने वाला एक और मामला सामने आया है. यहां दबंगों ने एक दलित परिवार को गांव के श्मशान घाट में अंतिम संस्कार से रोक दिया. मजबूरन दलित परिवार को अपने घर के सामने ही अंतिम संस्कार करना पड़ा.


मामला भिंड जिले के एंडोरी थाने के लोहरी का पुरा गांव का है. यहां रहने वाले 60 वर्षीय कप्तान वाल्मिकी (60) का लंबी बीमारी के बाद ग्वालियर में निधन हो गया. बेटा रामतौर अंतिम संस्कार के लिए पिता का शव गांव लेकर पहुंचा, जहां श्मशान घाट में अंत्येष्टि की तैयारियां की जा रही थी. आरोप है कि तभी गांव के कुछ दबंग वहां पहुंच गए और उन्होंने दलित परिवार को विवाद कर श्मशान घाट से भगा दिया.


बेटे का कहना है कि दबंगों के विरोध के चलते परिवार ने घर के नजदीक ही पिता का अंतिम संस्कार कर दिया.


मामला सामने आने के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे. लेकिन तब तक दलित परिवार अंतिम संस्कार कर चुका था. आला अफसरों का कहना है कि मौके पर पहुंचे पुलिस और प्रशासन के नुमाइंदों से रिपोर्ट तलब की गई है. रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.