जैसी ही महिला गर्भवती होती है, सेक्स पीछे छूट जाता है। लेकिन क्या इसका यह मतलब है कि बच्चा होने के बाद भी यह दूरी बरकरार रखी जाए? यह बात समझी जा सकती है कि चाहे नॉर्मल डिलिवरी हो या सीजेरियन महिलाओं के शरीर को रिकवर होने की जरूरत होती है। लेकिन बच्चा पैदा होने के कितने दिन बाद सेक्स किया जा सकता है, यह सवाल हमेशा सामने आता है।

एक्सपर्ट्स का मानना है कि बच्चे की डिलिवरी के बाद मां को 4 से 6 हफ्ते आराम करना चाहिए। यह समय अलग-अलग महिलाओं के स्वास्थ्य को देखते हुए अलग-अलग हो सकता है। नई मां को यह भी जानना चाहिए कि डिलिवरी के तुरंत बाद सेक्स में यह गारंटी भी नहीं होती कि वह तुरंत दोबारा प्रेग्नेंट नहीं होगी। क्योंकि यह प्रेग्नेंसी प्लान की हुई नहीं होगी तो इससे मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

अगर आप अपने शरीर को रिकवर होने का वक्त नहीं देतीं तो हो सकती हैं ये समस्याएं...डिलिवरी के तुरंत बाद कई महिलाओं को बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होती है। जब तक ब्लीडिंग बंद न हो जाए आपको सेक्स नहीं करना चाहिए। और इसके पहले एक्सपर्ट की सलाह लेना जरूरी है।

डिलिवरी की प्रक्रिया के बाद टांके आना कॉमन बात है। सेक्स के दौरान खिंचाव से ये टांके टूट सकते हैं।

दोनों तरह की डिलिवरी के बाद संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि सर्विक्स दोनों ही केस में फैलता है। इससे बैक्टीरिया आसानी से प्रवेश कर सकते हैं और सेक्स से यह डर दोगुना हो जाता है।