नई दिल्ली: भारत की जमीन पर पहली बार होने जा रहे फीफा अंडर-17 फुटबाल विश्वकप में अब 100 दिन शेष हैं लेकिन टूर्नामेंट की स्थानीय आयोजन समिति के निदेशक जेवियर सेप्पी नयी दिल्ली की तैयारियों को लेकर पूरी तरह संतुष्ट नहीं दिख रहे हैं। भारत के छह विभिन्न शहरों में फीफा अंडर-17 जूनियर विश्वकप के मैचों का आयोजन होना है और टूर्नामेंट के 100 दिन शेष रहते फीफा की स्थानीय आयोजन समिति के निदेशक सेप्पी ने इन जगहों का जायजा लिया।

राजधानी दिल्ली में फीफा विश्वकप की तैयारियों को लेकर सेप्पी ने कहा कि जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम और नई दिल्ली की ट्रेनिंग स्थलों में काफी सकारात्मक काम हुआ है लेकिन वह टिकट बिक्री को लेकर तय समय से पीछे चल रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी चिंता यहां आम जनता की प्रतिक्रिया को लेकर है क्योंकि दिल्ली अपने टिकट बिक्री को लेकर निर्धारित समय से पीछे है और हम उम्मीद करते हैं कि ड्रा के बाद इस स्थिति में सुधार आएगा।

देश की राजधानी को टूर्नामेंट के दौरान स्टेडियम में खचाखच मौजूद रहना होगा, इसके अलावा और किसी चीज से दिल्ली को फायदा नहीं होगा। विश्वकप के दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय का रग्बी स्टेडियम, जेएलएन लॉन बॉल एरिया, अभ्यास क्षेत्र और सुदेवा एरेना मेजबान दिल्ली के चार अहम ट्रेनिंग क्षेत्र होंगे। फीफा अंडर-17 विश्वकप छह से 28 अक्टूबर तक होना है।